अफ्रीकी देशों को ट्रंप ने ‘मलिन’ कहा, संयुक्त राष्ट्र ने जताया खेद

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हैती और अफ्रीकी देशों के प्रवासियों की रक्षा करने के कुछ अमेरिकी सांसदों के प्रयासों को लेकर निराशा व्यक्त करते हुए पूछा कि अमेरिका को इन ‘मलिन’ देशों के नागरिकों को क्यों स्वीकार करना चाहिए। ट्रंप ने सीनेटरों और कांग्रेस के सदस्यों से मुलाकात की और अमेरिका की अर्थव्यवस्था को मदद करने वाले कुछ एशियाई देशों से प्रवासियों की वकालत की। राष्ट्रपति ने अफ्रीकी देशों और हैती का जिक्र करते हुए यह बात की और सुझाव दिया कि अमेरिका को नार्वे जैसे स्थानों के प्रवासियों का स्वागत करना चाहिए। ट्रंप के इस बयान की डेमोक्रेटिक सांसदों ने निंदा की है। ‘वाशिंगटन पोस्ट’ के रिपोर्ट में कहा गया है कि व्हाइट हाउस के एक अधिकारी के अनुसार ट्रंप ने यह भी कहा कि वह एशियाई देशों के प्रवासियों काे अधिक खुले दिल से स्वागत करेंगे क्योंकि उन्हें लगता है कि वे आर्थिक रूप से अमेरिका की मदद करते हैं। ट्रंप के बयान का जिक्र करते हुए व्हाइट हाउस के प्रधान उप प्रेस सचिव राज शाह ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप हमेशा अमेरिकी लोगों के लिए लड़े। इस बीच, हाउस डेमोक्रेटिक व्हिप स्टेनी एच होयर ने ट्रंप के बयान की निंदा करते हुए इसे ‘नस्ली एवं अपमानजनक’ बताया। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने कहा है कि अफ्रीका एवं कुछ अन्य देशों को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आपत्तिजनक टिप्पणी से बहुत सारे लोगों की जिंदगी को नुकसान पहुंच सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर