अंतरिक्ष की सैर कराएगा रूस, सिर्फ तीन घंटे में पहुंचेंगे

space-Tour, अंतरिक्ष की सैर

मॉस्को : विश्व भर के देश पर्यटन को बढ़ाने में लगे हैं। भारत भी इस दिशा में प्रयासरत है। लेकिन रूस की मंशा अब अंतरिक्ष में पर्यटन को बढ़ावा देना है। इसके लिए वह तैयारियों में जुटा है। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रोसकोस्मोस प्रमुख दमित्री रोगोजिन की मानें तो अगले डेढ़ साल के भीतर रूस अंतरिक्ष घूमने की चाह रखने वाले पर्यटकों अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आईएसएस) की सैैर करवायेगा।

दमित्री का कहना है कि इस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम चल रहा है। उनके अनुसार अगले एक साल में महज तीन घंटे में दो बार पृथ्वी का चक्कर लगाने वाली मानव उड़ानें शुरू हो जाएंगी। इस संबंध में रविवार को दमित्री ने ट्वीटर पर लिखा- ” हम अगले मार्च तक पृथ्वी का दो चक्कर लगाने वाली अल्ट्रा-फास्ट प्रोजेक्ट के तहत माल आपूर्तिकर्ता अंतरिक्ष यान प्रोग्रेस के लॉन्च को दोहराने की योजना बना रहे हैं, उड़ान का समय तीन घंटे होगा।”

दमित्री ने जानकारी दी क‌ि, ” हम डेढ़ साल में आईएसएस तक अंतरिक्ष यात्री और अंतरिक्ष पर्यटकों को तेजी से पहुंचाने लगेंगे और इसमें विमान के जरिए मॉस्को से ब्रसेल्स जाने से भी कम समय लगेगा।”

अगर रूस का यह प्रोजेक्ट सफल रहा तो पर्यटन के क्षेत्र में यह एक क्रांतिकारी कदम होगा। इसके साथ ही विश्व के अन्य विकसित देशों भी अंतरिक्ष पर्यटन की दिशा में होड़ शुरू होने की उम्मीद है। अभी तक ‌अंतरिक्ष यान को अंतरिक्ष स्टेशन तक अंतरिक्ष यात्रियों को पहुंचाने और माल आपूर्ति करने में करीब 50 घंटे का वक्त लगता है।

स्पुतनिक की रपट बताती है कि अगले साल 28 मार्च को अल्ट्रा-फास्ट प्रोजेक्ट के तहत माल आपूर्ति करने वाले अंतरिक्ष यान की लॉन्चिंग होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

us

चीन की बेल्ट रोड परियोजना पर भारत की चिंताओं को साझा करता है अमेरिका : एलिस वेल्स

वाशिंगटन : अमेरिका ने चीन की महात्वाकांक्षी ‘वन बेल्ट वन रोड’ (ओबीओआर) परियोजना पर भारत के विरोध का समर्थन किया और कहा कि वह इस आगे पढ़ें »

Ramjan Ali

बेलूर में संस्कृत पढ़ाएंगे मुस्लिम प्रोफेसर

कोलकाता : कोलकाता के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक कॉलेज के संस्कृत विभाग में एक मुस्लिम व्यक्ति को सहायक प्राध्यापक के तौर पर नियुक्त किया आगे पढ़ें »

ऊपर