अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण पाक ने जारी किया यूएन प्रतिबंधों को लागू करने की गाइडलाइन

लाहौरः पुलवामा हमले के बाद पाकिस्‍तान पर बढ़ रहे अंतरराष्ट्रीय दबावों से विवश होकर पाकिस्तान ने देश में संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित किए गए व्यक्तियों और संगठनों के खिलाफ यूएनएससी 1267 प्रतिबंधों को लागू करने के लिए शुक्रवार को दिशानिर्देश जारी कर दिया। पाकिस्तान अपनी सरजमीन पर पल रहे आतंकी संगठनों पर अंकुश लगाने को लेकर भारी अंतरराष्ट्रीय दबाव झेल रहा है।

खबर के मुताबिक, गाइडलाइन जारी करते हुए पाकिस्तान के विदेश सचिव तहमीना जंजुआ ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के निशाने पर आए लोगों और समूहों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करने में यह सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रतिबंधों समेत अपने अंतरराष्ट्रीय कानूनी कर्तव्यों को पूरा करने के लिए पाकिस्तान को काफी ध्यान रखना होगा।

स्टेकहोल्डर्स निभाए अपनी जिम्मेदारी

पाक विदेश सचिव ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए यह गाइडलाइन सभी स्टेकहोल्डर्स से उनकी जिम्मेदारियों को निभाने में मदद करेगा। विदेश सचिव ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद 1267 (अल कायदा प्रतिबंध व्यवस्था) और सुरक्षा परिषद 1988 (तालिबान प्रतिबंध व्यवस्था) को लागू करने के मामलों की देखरेख करने वाली नैशनल कमिटी द्वारा इस गाइडलाइन को तैयार किया गया था। यूएनएससी 1267 प्रतिबंध समिति और फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स की जरूरतों के हिसाब से अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप स्टेकहोल्डर्स से परामर्श कर गाइडलाइन तैयार की गई।

पाक की अर्थव्यवस्‍था है मुश्किल दौर में

सचिव ने बताया कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था मुश्किल दौर से गुजर रही है। पाकिस्तान को फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ओर से ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है। अमेरिकी सांसदों के विरोध की वजह से पाकिस्तान को इंटरनैशनल मॉनेटरी फंड (आईएमएफ) से राहत पैकेज मिलना भी कठिन है। पाकिस्तान अभी तक आर्थिक संकट का मुकाबला खाड़ी देशों से वित्तीय सहायता से करने का प्रयास करता रहा है, लेकिन यह मदद उसके लिए पर्याप्त नहीं है। आईएमएफ ने 2018-19 के लिए पाकिस्तान की ग्रोथ का अनुमान घटाकर 2.8 पर्सेंट और 2019-20 के लिए 2.9 पर्सेंट किया है। पाकिस्तानी रुपये में कमजोरी आने के बाद पाकिस्तान का फ्यूल इम्पोर्ट बिल भी बढ़ रहा है।

पुलवामा हमले के बाद चौतरफा घिरा पाक

पुलवामा हमले के बाद दुनियाभर के देशों में आतंकवाद को लेकर पाक बदनाम हो रहा है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत-पाकिस्तान में तनाव काफी बढ़ गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोलकाता में लॉजिस्टिक के लिए विश्व बैंक तैयार कर रहा मास्टर प्लान : अमित मित्र

परियोजना की​ लागत करीब 300 मिलियन डॉलर कोलकाता : कोलकाता मेट्रोपॉलिटन एरिया में जल्द ही लॉजिस्टिक के क्षेत्र में बड़ी संभावनाएं सामने आने वाली हैं। इसकी आगे पढ़ें »

अफवाहों पर ध्यान ना दें, हम सब एक हैं – विजयवर्गीय

कोलकाता : भाजपा के सांगठनिक चुनाव काे लेकर शनिवार को माहेश्वरी भवन में भाजपा की अहम बैठक की गयी। इस बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय आगे पढ़ें »

ऊपर