रोज 10 मिनट करें ये 3 आसन, पेट की बढ़ती चर्बी से मिलेगा छुटकारा

नई दिल्ली : मोटापा इन दिनों एक आम समस्या है और इससे महिलाएं ज्यादा परेशान रहती हैं। पेट की बढ़ती चर्बी से तो अधिकतर महिलाएं परेशान हैं, क्योंकि इसे कम करना बहुत ही मुश्किल होता है। बढ़ी हुई चर्बी से कई  तरह की बीमारियां होती हैं और डायबिटीज, हार्ट डिजीज, अर्थराइटिस, और पेट की कई समस्या भी हो सकती है।

मोटापे के कारण आलस और थकान होती है और पेट की चर्बी के कारण आप अपनी पसंद की ड्रेसेस भी नहीं पहन सकती हैं, लेकिन कुछ योगासन हैं जो पेट की चर्बी कम करके आपके शरीर को भी फिट रखेंगे।

पादहस्तासन
पेट की चर्बी को कम करने के लिए रोजाना पादहस्तासन करें, यह आसन पेट के पास जमा चर्बी को कम करने में मदद करता है। पद का मतलब पैर या हस्ता का मतलब हाथ है। इस आसन को करने से दिल से संबंधित बीमारियां खत्म होती हैं। यह आसन रोजाना करने से आप 1 महीने में ही अपने पेट की चर्बी को कम कर सकती हैं।

ऐसे करें आसन
• सीधे खड़ी हो जाए।
•  झुकते हुए अपने हाथों की अंगुलियों से पैरों को छूने की कोशिश करें।
• कुछ सेकेंड इसी पॉजीशन में रहकर दोबारा पहली पॉजीशन में वापस आ जाए।
• 5 से 7 बार ऐसा करें।

फायदे
• झुकने से पेट पर प्रेशर पड़ता है और पेट की चर्बी कम होती है।
• मसल्स की कमजोरी को दूर करता है।
• अपच, मसल्सर की कमजोरी, पेट का फूलना जैसी समस्या कम होती है।
• शरीर में लचीलापन आता है।
• थकान दूर होती है और एकाग्रता बढ़ती है।
• बच्चों में लंबाई न बढ़ने की समस्या दूर होती है।

कपालभाति प्राणायाम
कपालभाती को जीवन संजीवनी कहा जाता है। यह सबसे कारगर प्राणायाम है। इससे आपके पेट का फैट तेजी से कम होता है। ग्लोपबल लिडिग होलिस्टिक के हेल्था गुरु और कॉर्पोरेट लाइफ कोच, डॉक्टजर मिकी मेहता का कहना है कि रेगलुर प्राणायाम करने से आपके पेडू के हिस्से दुरुस्त होते हैं और वजन कम करने में हेल्पा मिलती है। ऑक्सीजन के स्थानांतरण को होने दें और इसे आत्म-अनुशासन से प्राप्त किया जा सकता है। इससे मोटापे में काफी कमी आती है।

कैसे करें
• आरामदायक पॉजीशन में बैठकर सिर और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और हाथों को घुटनों पर ज्ञान मुद्रा में रखें।
• आंखें बंद करके शरीर को ढीला छोड़ दें और अब दोनों नासिका से गहरी सांस लें।
• पेट की मसल्सब को सिकोड़ते हुए सांस को बाहर निकाल दें।
• यह प्रक्रिया 10 मिनट तक करें और इसे आप बढ़ा सकते हैं।

फायदे
• मेटाबॉलिजम बढ़ाकर वजन कम करने में मदद करता है।
• पेट की चर्बी को कम कर बॉडी शेप में लाने में मदद करता है।
• डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए लाभदायक होता है।
• सांस के रोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।
• तनाव दूर करने में भी कपालभाति अच्छा। होता है।

परिवृत्त पार्श्वकोणासन
शिल्पा् शेट्टी फिट रहने के लिए एक्स रसाइज के साथ-साथ योग भी पसंद करती हैं। वह अपने फैंस को फिटनेस के लिए इंस्पाियर करने के लिए अपनी योग की फोटोज और वीडियो अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर करती रहती हैं। परिवृत्त पार्श्वकोणासन और प्रसारित पादोत्तासन कर रही थी। उसने वीडियो के कैप्शीन में लिखा है कि परिवृत्त पार्श्वकोणासन या रिवाइज्ड साइड एंगल पोज के कई फायदे हैं, ये चेस्टृ, पीठ, क्वाड्रिसेप्स और काफ मसल्सग को मजबूत करता है, डाइजेशन में सुधार, कब्ज‍ की समस्याि को दूर और आपको फ्लैट टमी पाने में हेल्पश करता हैं। ये ब्रोंकाइटिस, अस्थमा और सांस लेने की समस्याओं को भी दूर करने में हेल्प करता है।

तरीका
• ताड़ासन की स्थिति में खड़े हो जाएं।
• पैरों को 4 से 4.5 फीट तक खोलें।
• दोनों हाथों को दोनों दिशाओं में खोलें।
• अपने बाएं हाथ को दाहिने पंजे के पास झुकाएंऔर हथेली को जमीन पर रख दें।
• अपने दाएं हाथ को ऊपर की दिशा में सीधा रखें।
• इस पॉजीशन में 10 सेकंड तक रुके और पहली पॉजीशन में आ जाएं।
• अब इस प्रक्रिया को दूसरे हाथ से करें और 10 बार दोहराएं।

परिवृत्त पार्श्वकोणासन करने के फायदे

• टांगों, घुटनों और टखनों में स्ट्रेरच आता है, जिससे वह मजबूत बनते है।
• शरीर के निचले हिस्से खासकर पेट, थाइज और हिप्स में जमा चर्बी को कम करता है।
• कमर दर्द, पीठ, पैर और जोड़ों के दर्द में भी फायदेमंद है।
• पेट की समस्या ओं को दूर करने में मददगार।
• अस्थमा और सांस लेने की समस्याओं को दूर करता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पीएम ने पूछा बंगाल में क्या हो रहा है

भाजपा नेता ने निजी सचिव को सौंपी न्यूज क्लिपिंग व वीडियो फुटेज सन्मार्ग संवाददाता अंडाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को झारखण्ड के दुमका जाने के क्रम आगे पढ़ें »

dhankhad

राज्यपाल ने मुख्य सचिव और डीजी को बुलाया

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पिछले 3 दिनों से राज्यभर में हिंसा जारी है। इसी बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को राज्य के मुख्य सचिव राजीव आगे पढ़ें »

ऊपर