चेहरे पर दिखे बदलाव तो ये हो सकते हैं कारण

नई दिल्ली : शरीर के अंगों को सही तरीके से काम करने के लिए विटामिन बेहद जरूरी है। विटामिन कि कमी के कारण कई तरह की स्वास्थ समस्या हो सकती है। मानव शरीर से जुड़ी किसी भी क्रिया को करने के लिए पोषण की जरूरत होती है जो कि एनर्जी प्रदान करते हैं। पोषण अलग-अलग तरह के होते हैं जैसे-कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, मिनरल, कैल्शियम आदि। विटामिन कई तरह के होते हैं और जब किसी भी प्रकार की शरीर में कमी हो जाए तो उसे विटामिन की कमी कहा जाता है। आपका चेहरा बता देगा कि आपको कौन सी विटामिन कि कमी है।

पीला चेहरा
चेहरा हल्काा पीला हो तो विटामिन बी-12 की कमी का संकेत है। जीभ अगर थोड़ा उबड़ दिखाई दे और स्मू‍थ हो तो बी12 की कमी का एक और संकेत है। इस विटामिन की कमी से थकान और मेमोरी कमजोर हो सकती है। वेजिटेरियन में इसकी ज्यादा कमी होती है। विटामिन बी 12 की कमी आप पशु स्रोतों से पूरी कर सकती है। इसके सबसे अच्छे स्रोत है, फिश, शैलफिश, जैविक मुर्गी और अंडे। आप विटामिन बी-12 के लिए सप्लीमेंट भी ले सकती हैं।

ड्राई हेयर
ड्रैंडफ, ड्राई स्किन, ड्राई बाल और बालों का झड़ना विटामिन बी-7 या बायोटिन की कमी हो सकती है। बहुत अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक्स लेने से आंतों के बैक्टीरिया बाधित होने से ऐसा हो सकता हैं। इसकी कमी हो डाइट में फूलगोभी, अंडे की जर्दी और मशरूम से पूरी की जा सकती है।

सूजी आंखें
आँखें और पैर यदि सूजे हो तो आयोडीन की कमी के संकेत हो सकते हैं। अन्यत लक्षणों में वजन बढ़ना, ड्राई स्किन कमजोर नाखून आदि शामिल है। आपका शरीर थायरॉयड हार्मोन का उत्पादन करने के लिए आयोडीन का उपयोग करता है और इस कमी को दूर करने के लिए मछलियां और आयोडीन युक्त सब्जी को अपनी डाइट में शामिल करें।

पीले होंठ
अपने होठों के अंदर, अपने मसूड़ों और अपनी मसूड़ों के नीचे चेकअप करें। पीलापन हो तो यह आयरन की कमी का संकेत है। महिलाओं में आयरन का लेवल कम होने की संभावना अधिक होती है। यह क्रेविंग का कारण बनता है और इसकी कमी के कारण मिट्टी, चोक या बर्फ खाने का मन कर सकता है। आयरन जरूरी मिनरल है और शरीर की प्रत्येक सेल में पाया जाता है। यह आपके ब्लसड में ऑक्सीजन को आपके टिश्युर तक पहुंचाता है। पीरियड्स में हैवी ब्ी पाडिंग होने वाली महिलाओं में आयरन की कमी होने पर महिलाओं के पीरियड्स में हैवी ब्लींडिंग होती है। भोजन में पालक और हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल करें, इससे पीले होंठ और मसूड़ों की परेशानी दूर होगी।

मसूड़ों से ब्लीडिंग
विटामिन सी इम्‍यूनिटी बढ़ाने वाला माना जाता है, लेकिन समस्याएं भी पैदा हो सकती है। इस समस्या में मसूड़ों से ब्लनड आना, भंगुर बाल, और मसल्सस जैसे लक्षण शामिल है। विटामिन सी की कमी से स्कर्वी भी हो सकता है और दांत बाहर गिर सकते हैं। डाइट में खट्टे फलों को शामिल करें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भाजपा-लोजपा के बीच सीटों पर असमंजसता कायम

नई दिल्ली: बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर स्थिति अब तक साफ नहीं हो पाई है। एनडीए आगे पढ़ें »

स्कूल फीस मामले में कई विकल्पों की पेशकश

कोलकाता : स्कूल फीस में रियायत देने के मामले में दो विकल्प उभर कर सामने आए हैं। इस बाबत हाई कोर्ट के जस्टिस संजीव बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर