फिल्मों में होते हैं ये खास तरह के मेकअप

नई दिल्ली : आजकल हर कोई अच्छा दिखना चाहता है और हर मौके के लिए अलग और खास तरह का मेकअप होता है। अगर आप भी पार्टी में मेकअप से अलग अलग लुक्स चाहती हैं तो, आपके लिए अलग अलग मेकअप के बारे में जानना बेहद जरुरी है। या आप अपना मेकअप खुद करना चाहती हैं या फिल्म और ग्लैमर इंडस्ट्री में करियर बनाना चाहती हैं तो कुछ खास तरह के मेकअप में  आप स्पेशलाइजेशन कर सकती हैं।

फैशन मेकअप
फिल्म, टीवी शो और फैशन शो के लिए अलग तरह का मेकअप होता है। इए मेकअप को फैशन मेकअप कहा जाता है। ऐसा मेकअप किसी ऐक्टर या मॉडल को नेचुरल लुक देता है और खास तरह पर उनके फीचर्स को हाईलाइट करता है। ताकि वो पर्दें पर खूबसूरत लगे। रैंप पर चलने वाली मॉडल से लेकर किसी पत्रिका में फोटोग्राफी के लिए भी फैशन मेकअप आर्टिस्ट की जरुरत पड़ती है। इसमें करियर के लिए बेहतरीन ओपरच्युनिटीज है, अाप फैशन मेकअप अर्टिस्ट बनकर नाम और पैसा दोनों इस क्षेत्र में कमा सकते हैं।

थिएट्रिकल मेकअप
स्टेज शो या थियेटर में कलाकारों के फीचर्स को खास तौर पर हाईलाइट किया जाता है। इस तरह के मेकअप को थिएट्रिकल मेकअप कहा जाता है। एक्टर्स के चेहरे को इसीलिए हाईलाइट किया जाता है, ताकि उनके चेहरे के हाव -भंगिमा को दर्शक अच्छे से देख सकें या महसूस कर सकें। यह मेकअप खास तौर पर चेहरे को उभरता है और काफी शाइनी होता है। इसमें खास तौर पर कलाकारों के लिप्स, अाइज और नोज को हाइलाइट किया जाता है।

स्पेशल इफेक्ट्स मेकअप
स्पेशल इफेक्ट्स मेकअप में किसी एक्टर को बिल्कुल ही नया लुक दिया जाता है। जैसे किसी हॉरर फिल्म के लिए एक्टर को सनसनी पैदा करना हो या डराना हो। एक्टर को डरावना लुक देने के लिए यह मेकअप किया जाता है। या फिर एक्शन फिल्म में हीरो या विलेन को चोट लगना, खून निकलना, चोट के निशान दिखाना जैसे मेकअप किए जाते हैं। इस तरह के मेकअप में मेकअप अार्टिस्ट को प्लास्टर या कास्टिंग जैसी चीजों का इस्तेमाल करना पड़ता है। स्पेशल इफेक्ट्स मेकअप काफी मुश्किल काम है और फिल्म इंडस्ट्री में इसकी डिमांड भी काफी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर