महिलाओ में बढ़ रहा है फॉरेस्ट फेशियल थेरेपी का क्रेज, जनिए क्या हैं फायदें

नई दिल्ली : महिलाएं अपनी खूबसूरती को निखारने के लिए हमेशा से कुदरती चीजों और जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल करती रही हैं। इसी के तहत आज के समय में फॉरेस्ट फेशियल काफी ज्यादा पॉपुलर हो रहा है, जड़ी-बूटियों के इस्तेमाल से त्वचा की रंगत तो निखरती ही है, साथ ही स्ट्रेस और डिप्रेशन में भी राहत महसूस होती है। इस थेरेपी में बांस का इस्तेमाल भी किया जाता है, जो त्वचा को ग्लोइंग लुक देता है। इससे त्वचा में नई जान आ जाती है।

पीरियड को लेकर अपनी लाडली को करें जागरूक, बताएं ये बातें

ये फायदे देता है फॉरेस्ट फेशियल
फॉरेस्ट फेशियल में इस्तेमाल होने वाले तत्वों से कई तरह की स्किन प्रॉब्लम्स जैसे कि कील-मुंहासे, ड्राई स्किन, स्किन पर दाग जैसी समस्याओं में आराम मिलता है और ताजगी का अहसास होता है। इसमें जड़ी-बूटियों के अलावा बांस का का लेप किया जाता है और मालिश की जाती है, जिससे शरीर में खून का दौरा बढ़ जाता है और त्वचा में चमक बढ़ जाती है। इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले हर्ब्स और औषधीय तत्वों का असर भी त्वचा पर नजर आता है। इसके मसाज से त्वचा ही नहीं दिल और दिमाग दोनों रिलैक्स और रिफ्रेश होते हैं।

ऐसे तैयार किया जाता है
इसे तैयार करने के लिएजड़ी-बूटियों और बांस के कोमल हिस्सों को ग्राइंडर में पीस लिया जाता है। इस पैक से त्वचा की मसाज की जाती है।
इस बारे में ब्यूटी एक्सपर्ट्स का मानना है कि फोरेस्ट फेशियल में इस्तेमाल होने वाले तत्वों में बांस काफी असरदार होता है। ध्यान रखने वाली बात ये हैं कि बांस को सीधे तौर त्वचा में इस्तेमाल नहीं किया जाता। सबसे पहले अलग-अलग साइज और लंबाई की बांस की लकड़ियों को आर्गेनिक ट्रीटमेंट की प्रोसेस से गुजरना होता है, इसके बाद इन्हें हल्का गर्म किया जाता है। हर महिला की चेहरे की त्वचा की जरूरतों को देखते हुए खास हिस्सों पर मसाज किया जाता है। इसमें हाथों की उंगलियों की जगह बैंबू स्टिक से चेहरे की मसाज दी जाती है।

ये ड्राईफ्रूट है बेहद फायदेमंद, रोजाना खाने से होंगे ये फायदे

बांस के कोमल हिस्सों से बनी क्रीम और स्क्रब से चेहरे पर मसाज करने पर इंस्टेंट ग्लो मिलता है और त्वचा की रंगत खिली-खिली नजर आती है। इसमें आंवला, एलोवेरा जैसे तत्वों का भी इस्तेमाल किया जाता है। कुदरती तत्व आपकी त्वचा को पोषण देते हैं, जिससे कई तरह की स्किन प्रॉब्लम्स जैसे कि ड्राई स्किन, पैची स्किन, कील-मुंहासे आदि में भी राहत मिलती है। बांस में पाया जाने वाला सिलिका त्वचा की सुंदरता बनाए रखने के लिए जरूरी तत्व जैसे कि कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम को सोखने की क्षमता बढ़ाता है। साथ ही इसके एंटीऑक्सिडेंट्स त्वचा को यंग लुक देने और स्किन से टॉक्सिन्स को बाहर करने में भी मदद करते हैं।

ब्यूटी एक्सपर्ट्स का कहना है कि परपंरागत तरीके से त्वचा की देखभाल का क्रेज महिलाओं में बढ़ा है। बढ़ती जागरूकता के कारण कैमिकल से महिलाएं अब दूरी बना रही हैं, इससे प्रदूषण के दुष्प्रभाव भी कम होते है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता और ओवैसी में ठनी

नई दिल्ली/कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की 'अल्पसंख्यक कट्टरता' को लेकर दी गई हिदायत पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) नेता असदुद्दीन आगे पढ़ें »

Bengal new Rajypal

फिर नहीं मिला हेलिकॉप्टर, राज्यपाल सड़क मार्ग से जाएंगे मुर्शिदाबाद

कोलकाता : राजभवन और राज्य सरकार के बीच चल रही खींचतान में हेलिकॉप्टर विवाद तुल पकड़ता जा रहा है। एक बार फिर राज्यपाल जगदीप धनखड़ आगे पढ़ें »

ऊपर