बाल झड़ने से हैं परेशान तो ये भी हो सकते हैं कारण

नई दिल्ली : महिला हो या पुरूष दोनों में बालों का झड़ना आम समस्या है और चिकित्सा से जुड़े रिसर्च कहते हैं कि हर रोज आपके 70 से 100 बाल झड़ते हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन जरूरत से ज्यादा बाल झड़ते हैं तो अनुवांशिक या मौसम से संबंधित समस्या भी हो सकती है। समस्या बढ़ती ही जा रही है तो इसके पीछे बीमारी भी हो सकती है।

चेहरे की खूबसूरती में लंबे, काले और घने बालों का पूरा योगदान होता है। झड़ते बालों को रोकने के लिए हम अक्सर तरह-तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स और घरेलू नुस्खों को अपनाते हैं, हमारे बाल सिर्फ देखभाल के अभाव में नहीं बल्कि कई बीमारियों के कारण भी झड़ने लगते हैं।

थायरॉयड
आपके बाल ज्यादा झड़ रहे हैं तो उसका कारण थायरॉयड भी हो सकता है। गंभीर और लंबे समय तक हाइपोथायरायडिज्म और हाइपरथॉयरायडिज्मै बालों के झड़ने का कारण बन सकता है, लेकिन थायरॉयड के उपचार के साथ-साथ यह समस्या अपने आप कम हो जाती है। हालांकि इस प्रोसेस में कुछ महीनों का समय लग सकता है।

केके मोदी समूह में हिस्सेदारी नहीं बेचेगी गॉडफ्रे फिलिप्स इंडिया

ल्यूपस
ल्यूपस एक पुरानी ऑटोइम्यून डिजीज है, जिसमें बॉडी का अपना इम्यूुन सिस्ट म हेल्दीे टिश्युय पर हमला करना शुरू कर देता है। इससे लगभग 1.5 मिलियन लोग प्रभावित होते हैं और अपने प्रसव के दौरान महिलाओं पर इसका ज्यादा प्रभाव होता है, इससे शरीर में लंबे समय तक सूजन बनी रहती है। इससे चेहरे की त्वचा और बालों की जड़ें मुख्य रूप से प्रभावित होती हैं और सिर के बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। इस बीमारी में आईब्रो, मूंछ और दाड़ी के बाल झड़ने की समस्या भी देखी गई है।

कैंसर
कैंसररोगियों में बालों का झड़ना आम समस्याि है और तेजी से बालों का झड़ना यह इशारा करता है कि बॉडी में कैंसर जैसी बीमारी के चांस बढ़ रहे हैं।कीमोथेरेपी के कारण भी बाल तेजी से झड़ते हैं।

इस मामले में सेबी शेयरधारक झुनझुनवाला एंड परिवार की कर रही है जांच

टाइफाइड
टाइफाइड साल्मोनेला एन्टेरिका सेरोटाइप टाइफी बैक्टीरिया के कारण होती है। यह बैक्टीरिया पानी और खाने के जरिए लोगों के अन्दर जाता है और लोगों में फैल जाता है। लंबे समय तक तेज बुखार, टाइफाइड या वायरल इंफेक्शगन के कारण भी बाल अधिक झड़ते हैं। ट्रीटमेंट से यह ठीक भी हो जाते हैं।

फंगल इंफेक्श‍न
स्कै ल्पन पर फंगल इंफेक्शैन के कारण भी बाल तेजी से झड़ते हैं, इस समस्या में तुरंत डॉक्टार से संपर्क करें। ट्रीटमेंट के साथ-साथ हाइजीन का भी ध्याशन रखना बेहद जरूरी होता है।

डिप्रेशन
डिप्रेशन कई बीमारियों का कारण होता है, इसके कारण मोटापा, थायरॉयड और डायबिटीज जैसी बीमारियां परेशान करती हैं और बाल भी तेजी से झड़ने लगते हैं। तनाव के कारण जरूरी हॉर्मोन बन नहीं पाते हैं और इसका बुरा असर डायजेशन पर पड़ता है। बालों को जरूरी पोषण नहीं मिलने से बाल झड़ने लगते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

2022 में होगा विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप

पेरिस : टोक्यो ओलंपिक के एक साल तक टलने से 2021 में प्रस्तावित ओरेगन विश्व चैंपियनशिप का आयोजन अब 2022 में 15 से 24 जुलाई आगे पढ़ें »

इटली के ओलंपिक फाइनलिस्ट दोनातो की कोरोना से मौत

नई दिल्ली : दुनियाभर को अपनी चपेट में ले चुके कोरोना (कोविड-19) के कारण दो हफ्ते में खेल जगत के 6 बड़े खिलाड़ी अपनी जान आगे पढ़ें »

दुबई में विश्व की पहली ‘होम मैराथन’, भाग लेंगे 62 देशों के 749 धावक

सेंसेक्स 31,159 की बढ़त के साथ और निफ्टी 363 अंकों की बढ़त के साथ 9,111 पर बंद हुआ

कोरोना की रोकथाम के लिए सरकार ने 15000 करोड़ रुपये के इमरजेंसी पैकेज का ऐलान किया

आईपीएल के लिये किसी आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कोहली से नरमी नहीं बरती : टिम पेन

कर्फ्य के दौरान कार से निकलने पर क्रिकेटर ऋषि धवन का चालान काटा

विश्व कप विजेता हाकी खिलाड़ी अशोक दीवान अमेरिका में फंसे, सरकार से लगायी गुहार

शोएब को कपिल ने सिखायी इंसानियत कहा-भारत को धन की नहीं जरूरत, जोखिम में नहीं डालेंगे खिलाड़ियों को

rbi

मौजूदा वित्त वर्ष के शुरूआती 9 महीनों में ही 50 फीसद कर्ज ले सकेंगे राज्य : आरबीआई

ऊपर