बाल झड़ने से हैं परेशान तो ये भी हो सकते हैं कारण

नई दिल्ली : महिला हो या पुरूष दोनों में बालों का झड़ना आम समस्या है और चिकित्सा से जुड़े रिसर्च कहते हैं कि हर रोज आपके 70 से 100 बाल झड़ते हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन जरूरत से ज्यादा बाल झड़ते हैं तो अनुवांशिक या मौसम से संबंधित समस्या भी हो सकती है। समस्या बढ़ती ही जा रही है तो इसके पीछे बीमारी भी हो सकती है।

चेहरे की खूबसूरती में लंबे, काले और घने बालों का पूरा योगदान होता है। झड़ते बालों को रोकने के लिए हम अक्सर तरह-तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स और घरेलू नुस्खों को अपनाते हैं, हमारे बाल सिर्फ देखभाल के अभाव में नहीं बल्कि कई बीमारियों के कारण भी झड़ने लगते हैं।

थायरॉयड
आपके बाल ज्यादा झड़ रहे हैं तो उसका कारण थायरॉयड भी हो सकता है। गंभीर और लंबे समय तक हाइपोथायरायडिज्म और हाइपरथॉयरायडिज्मै बालों के झड़ने का कारण बन सकता है, लेकिन थायरॉयड के उपचार के साथ-साथ यह समस्या अपने आप कम हो जाती है। हालांकि इस प्रोसेस में कुछ महीनों का समय लग सकता है।

केके मोदी समूह में हिस्सेदारी नहीं बेचेगी गॉडफ्रे फिलिप्स इंडिया

ल्यूपस
ल्यूपस एक पुरानी ऑटोइम्यून डिजीज है, जिसमें बॉडी का अपना इम्यूुन सिस्ट म हेल्दीे टिश्युय पर हमला करना शुरू कर देता है। इससे लगभग 1.5 मिलियन लोग प्रभावित होते हैं और अपने प्रसव के दौरान महिलाओं पर इसका ज्यादा प्रभाव होता है, इससे शरीर में लंबे समय तक सूजन बनी रहती है। इससे चेहरे की त्वचा और बालों की जड़ें मुख्य रूप से प्रभावित होती हैं और सिर के बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। इस बीमारी में आईब्रो, मूंछ और दाड़ी के बाल झड़ने की समस्या भी देखी गई है।

कैंसर
कैंसररोगियों में बालों का झड़ना आम समस्याि है और तेजी से बालों का झड़ना यह इशारा करता है कि बॉडी में कैंसर जैसी बीमारी के चांस बढ़ रहे हैं।कीमोथेरेपी के कारण भी बाल तेजी से झड़ते हैं।

इस मामले में सेबी शेयरधारक झुनझुनवाला एंड परिवार की कर रही है जांच

टाइफाइड
टाइफाइड साल्मोनेला एन्टेरिका सेरोटाइप टाइफी बैक्टीरिया के कारण होती है। यह बैक्टीरिया पानी और खाने के जरिए लोगों के अन्दर जाता है और लोगों में फैल जाता है। लंबे समय तक तेज बुखार, टाइफाइड या वायरल इंफेक्शगन के कारण भी बाल अधिक झड़ते हैं। ट्रीटमेंट से यह ठीक भी हो जाते हैं।

फंगल इंफेक्श‍न
स्कै ल्पन पर फंगल इंफेक्शैन के कारण भी बाल तेजी से झड़ते हैं, इस समस्या में तुरंत डॉक्टार से संपर्क करें। ट्रीटमेंट के साथ-साथ हाइजीन का भी ध्याशन रखना बेहद जरूरी होता है।

डिप्रेशन
डिप्रेशन कई बीमारियों का कारण होता है, इसके कारण मोटापा, थायरॉयड और डायबिटीज जैसी बीमारियां परेशान करती हैं और बाल भी तेजी से झड़ने लगते हैं। तनाव के कारण जरूरी हॉर्मोन बन नहीं पाते हैं और इसका बुरा असर डायजेशन पर पड़ता है। बालों को जरूरी पोषण नहीं मिलने से बाल झड़ने लगते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारत- न्यूजीलैंड अभ्‍यास मैच ड्रा, अग्रवाल व पंत फार्म में लौटे

हैमिल्टन : मयंक अग्रवाल ने रविवार को यहां भारत के न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ ड्रा हुए अभ्यास मैच में अपने जन्मदिन के मौके पर रन आगे पढ़ें »

सिलेक्टर चयन : बीसीसीआई के इनबॉक्स से शिवरामाकृष्णन का आवेदन डिलीट

नयी दिल्‍ली : पूर्व भारतीय क्रिकेटर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन ने भारतीय टीम के मुख्‍य चयनकर्ता के लिए बीसीसीआई के ई-मेल पर जो आवेदन भेजा था, वह आगे पढ़ें »

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया व इंग्लैंड के खिलाफ पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट को तैयार : गांगुली

modi & trump

केम छो ट्रंप कार्यक्रम का नाम बदलकर हुआ नमस्ते ट्रंप

delhis

जामिया समिति ने छात्रों पर हमला कर रहे अर्द्धसैनिक बलों का वीडियो जारी किया

rakul sunny

रकुल प्रीत ने लिया अपने जीवन का सबसे बड़ा फैसला, सनी लियोन ने खाई ये कसम

bigg boss

‘बिग बॉस 13’ के विजेता बने सिद्धार्थ शुक्ला, लगा बधाइयों का तांता

modis

हम सीएए और अनुच्छेद 370 से जुड़े अपने फैसलों पर कायम हैं और रहेंगे : पीएम मोदी

himalaya

सेटेलाइट फोन से होगी हिमालय क्षेत्र में सैलानियों की त्वरित चिकित्सा सहायता सेवा

delhi

केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे भाजपा विधायक, आगे बैठने के लिए नहीं मिली कुर्सी

ऊपर