दिल की बीमारी से बचाएंगी ये पांच बातें

नई दिल्ली : आजकल की बदलती लाइफस्टांइल और जिम्मेदारियों के कारण महिलाओं में तनाव बढ़ गया है और तेजी से महिलाओं को हार्ट डिजीज से घेर रहा है। आज हार्ट डिजीज महिलाओं के लिए नंबर वन किलर बन गया है। जानकारों का मानना है कि हार्ट डिजीज पुरुषों की बीमारी हैं और महिलाओं को इसका खतरा कम रहता है, लेकिन खराब लाइफस्टा्इल, काम के बढ़ते बोझ और अनहेल्दीओ डाइट के कारण यह समस्या किसी को भी हो सकती है। जॉर्जिया स्थित इमोरी यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च में हार्ट अटैक झेल चुकी महिला मरीजों के आंकड़ों पर अध्ययन किया गया, जिसके मुताबिक हार्ट डिजीज महिलाओं में बढ़ रहा है और रिसर्च के मुताबिक महिलाओं में मानसिक तनाव के चलते हार्ट डिजीज की आशंका पुरुषों की तुलना में कई गुना अधिक होती है।

भारत की ज्या दातर महिलाएं 50 की उम्र तक खुद को हार्ट डिजीज से सुरक्षित मानती है, लेकिन एक रिसर्च के मुताबिक भारत में 5 में से 3 महिलाओं में 35 साल की उम्र के बाद हार्ट डिजीज का खतरा बढने लगता है। दुनिया भर में हार्ट डिजीज मौत के सबसे बड़े कारणों में से एक है। वर्ल्डल हार्ट फेडरेशन के मुताबिक एक साल में हार्ट डिजीज के कारण लगभग 1.75 करोड़ लोगों की मौत हो जाती है। इनमें से करीब 67 लाख लोगों की मौत स्ट्रोक से होती है, जबकि कोरोनरी हार्ट डिजीज के कारण 74 लाख लोग अपनी जान गंवाते हैं। हर साल 29 सितंबर वर्ल्ड हार्ट डे के रूप में मनाया जाता है, ताकि हार्ट की समस्यााओं को लेकर लोग जागरूक हो सकें और हार्ट सही केयर कर सकें। हार्ट को हेल्दीा बनाने के डॉक्टर्स ने कुछ तरीके बताएं हैं…

हेल्दी डाइट
हेल्दीा डाइट हेल्दी लाइफ जीने का तरीका है, लेकिन हममें से अधिकांश इसे अनदेखा करते हैं। जो भी हम खाते हैं, उससे सीधा दिल प्रभावित होता है। ऐसे में अपनी डाइट में ग्रीन और पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें, चीनी और गैस युक्त ड्रिंक से परहेज करें। शुगर ड्रिंक या प्रोसेस्ड फूड्स या आटे का सेवन हेल्दीक लाइफ और हेल्दीऔ हार्ट के लिए कम करें।

स्मोकिंग और अल्कोहल को कंट्रोल में रखें
स्मो किंग और अल्कोहहल के सेवन से हार्ट डिजीज होने का जोखिम बढ़ेगा। इन आदतों से ब्लेडप्रेशर बढ़ता है, जिसके कारण हार्ट बीट अनियमित होती है और स्ट्रोक्स होते हैं। यह हार्ट के नॉर्मल कामों में भी बाधा उत्पैन्नज करता है। ऐसे में इन चीजों का सेवन कम से कम करें और हो सके तो ना लें।

रेगलुर एक्सर

साइज करें
दिल स्वस्थ इसके लिए रोजाना एक्सिरसाइज करें। धमनियों में लचीलापन बनी रहे, इसके लिए 30-45 मिनट के लिए किसी भी फिजिकल एक्टिविटी के रूप में डेली एक्सचरसाइज करें। तेज चलने से कुछ वयस्कों की जीवन अवधि में लगभग दो घंटे जुड़ सकते हैं। लाइफस्टाीइल में कुछ बदलाव जैसे एलेवेटर के बदले सीढ़ियों से चढ़ना, पार्किंग स्थल के अंतिम भाग में पार्किंग करना और अपने दोपहर भोजन के समय में से थोड़ी देर के लिए ऑफिस से ब्रेक लेकर पैदल चलने से न केवल बॉडी को दुरुस्त रखने में मदद मिलती है, बल्कि हेल्दीक लाइफ की एक आदत भी बनती है।

स्ट्रेंस को कम करें
रिसर्च कहते हैं कि स्ट्रेदस हार्ट प्रॉब्लदम्स। का सबसे बड़ा कारण है। इससे दर्द और तकलीफ, चिंता और अवसाद की भावनाएं और आपकी एनर्जी कम हो सकती है। स्ट्रेलस को दूर करने की कोशिश करें और अन्य एक्टिविटीज से स्ट्रे स के स्तर को कम करें। इसके लिए आप कुछ हॉबीज जैसे संगीत सुनना, अच्छी किताबे पढना, मेडिटेशन करने टहलने जैसे आदतें विकसित कर सकती हैं।

वजन कम करें
बहुत ज्याादा वजन आपके दिल के लिए अच्चा नहीं है, ऐसे में अपने वजन को कम करें। यह हाई कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ाता है, जिससे डायबिटीज और धमनी रोग के खतरे और ब्लंड प्रेशर की संभावना को बढ़ता है। बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) पर भी नजर रखें और इसे सही लेवल तक बनाए रखें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

Share profit

शेयर बाजार में आईआरसीटीसी की बंपर लिस्टिंग, निवेशक हुए मालामाल

नई दिल्ली : इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर 101.25 प्रतिशत और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर 95.62 आगे पढ़ें »

doodle

गूगल ने आज का डूडल जोसेफ प्लेत्यू को किया समर्पित, इनकी वजह से देख पा रहे फिल्में

नयी दिल्ली : गूगल ने आज यानि सोमवार को फेनाकिस्टिस्कोप के आविष्कारक बेल्जियन भौतिकशास्‍त्री एंतोनी जोसेफ फर्दिनांद प्लेत्यू की 218वी सालगिरह पर उनके सम्मान में आगे पढ़ें »

ऊपर