किराना सामानों से भी घर में आ सकता है कोरोना वायरस, बरतें सावधानी

नई दिल्ली : कोरोना के दौर पूरा देश लॉकडाउन पर है, लेकिन कुछ जगहें ऐसी हैं, जहाँ जाए बिना काम नहीं चलता। वो है किराना का दुकान, यहाँ हर तरह के लोग आते हैं और जो सामान आप छूते या खरीदते हैं आपसे पहले कई लोग छू चुके होते हैं। उनमें कोरोना संक्रमित भी हो सकते हैं। ऐसे में अनजाने में भी किराने के दुकानों से आप कोरोना वायरस आपने घर के अंदर ला सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किराना सामग्री खरीदकर घर लाने को लेकर विशेष निर्देश जारी किए हैं।

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि संक्रमित सतह या सामन को छूने के बाद अगर आप उन हाथों से आंख, मुंह या चेहरा छूते हैं तो वायरस शरीर में प्रवेश कर सकता है। किराना दुकानों पर संक्रमण का खतरा हर स्तर पर है, ऐसे में अगर इन जगहों पर जाए तो लगभग छह फीट की दूरी रखें। मास्क, ग्लब्स लगाने के साथ चेहरे को कवर रखें।

खरीदारी के लिए डिस्पोजेबल प्लास्टिक का थैला लें और सामान घर लाने के बाद इसे कूड़ेदान में तुरंत डालें। या घर कपडे का बना थैला इस्तेमाल करें तो इसे सामान लाने के बाद साबुन या डिटर्जेंट से साफ़ कर लें, जिससे संक्रमण खत्म हो जाये ।
इसके अलावा डिस्पोजेबल पैकेट में सामान हो तो उसे निकाल कर पैकेट फेंक दें। सब्जी या फल फ्रीज में रखने से पहले अच्छी तरह धोकर सुखा लें। दूध के पैकेट को अच्छी तरह साबुन से धो लें और फिर दूध निकालकर गर्म कर लें।

72 घंटे तक सामान को ना लगाएं हाथ
कई शोध के मुताबिक प्लास्टिक और स्टेनलेस स्टील पर वायरस 72 घंटे और कार्डबोर्ड पर 24 घंटे तक जिंदा रहता है, सामान लाने से पहले उसे घर के बाहरी हिस्से में 72 घंटे के लिए रखें, इससे वायरस निष्क्रिय हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आयी कोरोना वायरस संक्रमण की बाढ़

कोलकाता : बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के पिछले 24 घंटे में 435 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान मरने वालों की संख्या आगे पढ़ें »

बॉयकॉट ने बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ी

लंदन : इंग्लैंड के पूर्व कप्तान जैफरी बॉयकॉट ने कोरोना की वजह से बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ दी है। वे 14 साल आगे पढ़ें »

एशिया कप में खेलना सपने सच होने जैसा : कप्तान आशा लता

बड़ी कामयाबी : होम्योपैथी दवा के हमले से ढेर हुआ कोराेना, 42 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ

इंसानियत हुई तार-तार : गर्भवती हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, देशभर में आक्रोश

मिथिला की बेटी मधु माधवी का प्रतिष्ठित जेम्स वॉट मेडल के लिए हुआ चयन

पाक ने की नापाक हरकत, जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास चौकियों पर की अकारण गोलीबारी

SUPREME COURT

क्या निजी अस्पताल कोरोना मरीजों का फ्री इलाज करने को तैयार हैं : सुप्रीम कोर्ट

बड़ा कदम : निजी अस्पतालों का कोरोना इलाज शुल्क 15 हजार रुपये अधिकतम सीमा हुआ तय

50 हजार पेड़ लगायेगी कोलकाता पुलिस : सीपी

ऊपर