किराना सामानों से भी घर में आ सकता है कोरोना वायरस, बरतें सावधानी

नई दिल्ली : कोरोना के दौर पूरा देश लॉकडाउन पर है, लेकिन कुछ जगहें ऐसी हैं, जहाँ जाए बिना काम नहीं चलता। वो है किराना का दुकान, यहाँ हर तरह के लोग आते हैं और जो सामान आप छूते या खरीदते हैं आपसे पहले कई लोग छू चुके होते हैं। उनमें कोरोना संक्रमित भी हो सकते हैं। ऐसे में अनजाने में भी किराने के दुकानों से आप कोरोना वायरस आपने घर के अंदर ला सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किराना सामग्री खरीदकर घर लाने को लेकर विशेष निर्देश जारी किए हैं।

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि संक्रमित सतह या सामन को छूने के बाद अगर आप उन हाथों से आंख, मुंह या चेहरा छूते हैं तो वायरस शरीर में प्रवेश कर सकता है। किराना दुकानों पर संक्रमण का खतरा हर स्तर पर है, ऐसे में अगर इन जगहों पर जाए तो लगभग छह फीट की दूरी रखें। मास्क, ग्लब्स लगाने के साथ चेहरे को कवर रखें।

खरीदारी के लिए डिस्पोजेबल प्लास्टिक का थैला लें और सामान घर लाने के बाद इसे कूड़ेदान में तुरंत डालें। या घर कपडे का बना थैला इस्तेमाल करें तो इसे सामान लाने के बाद साबुन या डिटर्जेंट से साफ़ कर लें, जिससे संक्रमण खत्म हो जाये ।
इसके अलावा डिस्पोजेबल पैकेट में सामान हो तो उसे निकाल कर पैकेट फेंक दें। सब्जी या फल फ्रीज में रखने से पहले अच्छी तरह धोकर सुखा लें। दूध के पैकेट को अच्छी तरह साबुन से धो लें और फिर दूध निकालकर गर्म कर लें।

72 घंटे तक सामान को ना लगाएं हाथ
कई शोध के मुताबिक प्लास्टिक और स्टेनलेस स्टील पर वायरस 72 घंटे और कार्डबोर्ड पर 24 घंटे तक जिंदा रहता है, सामान लाने से पहले उसे घर के बाहरी हिस्से में 72 घंटे के लिए रखें, इससे वायरस निष्क्रिय हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टॉस विवाद पर बोले संगकारा- मैं जीता था लेकिन धोनी आवाज नहीं सुन पाए तो दोबारा सिक्का उछाला गया

नयी दिल्‍ली : भारत-श्रीलंका के बीच 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में दोबारा टॉस कराने के मामले में अब जाकर श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा आगे पढ़ें »

ईसीबी ने 55 खिलाड़ियों को अभ्यास शुरू करने को कहा

लंदन : विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन और टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट के अलावा इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 55 आगे पढ़ें »

ऊपर