आपके अंडर गारमेंट्स से हो सकती हैं स्वास्थ समस्याएं

नई दिल्ली: ब्रा महिलाओं का रेगुलर ऑउटफिट है, लेकिन कभी कभी हर समय ब्रा पहनना हानिकारक भी हो सकता है। आरामदेह ना होने के कारण महिलाएं घर पर अक्सर बिना ब्रा के ही रहती हैं। ब्रा न पहनने के लिए कई कैंपेन भी चल चुके हैं। कई सेलिब्रिटीज भी ब्रा छोड़ने की बात कह चुकी हैं। हालाँकि बहुत से जानकार ब्रा के बिना रहना महिलाओं की सेहत के लिए अच्छा नहीं मानते।
साइज का रखें ध्यान

गलत साइज की ब्रा पहनने से सिरदर्द, गर्दन में दर्द, पीठ में दर्द और स्तनों में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। लॉन्जरी एक्सपर्ट पॉला सावोडोबा के अनुसार ब्रेस्ट के वेट को ब्रा कवर करता है, अगर आप ब्रा नहीं पहनती हैं तो आपकी पीठ या गर्दन पर तनाव पड़ता है। ब्रा एक्सपर्ट्स का कहना है कि कप साइज ए और बी भी आपकी पीठ पर भारी पड़ सकते हैं।

महिलाओं को परफेक्ट साइज का ब्रा पहनना चाहिए। कई स्टडी में यह बात सामने आई है कि ज्यादातर महिलाएं गलत साइज की ब्रा पहनती हैं। आपको लॉन्जरी शॉपिंग से पहले अपना सही साइज पता कर लेना चाहिए। ए-कप साइज के ब्रेस्ट्स को भी सपॉर्ट की उतनी ही जरूरत होती है, जितनी ई-कप साइज के ब्रेस्ट को।

शेयर करें

मुख्य समाचार

murshidabad

5 मिनट में उसने शिक्षक समेत तीनों को उतारा था मौत के घाट !

कोलकाता : मुर्शिदाबाद में तीहरे हत्याकांड की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने सुलझा ली है, ऐसा दावा है पुलिस का। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आगे पढ़ें »

मौका मिले तो आठवां ओलंपिक खेलना चाहूंगा : पेस

मेलबोर्न : भारत के लीजेंड टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के दिल में आठवां ओलंपिक खेलने की लालसा बरकरार है और यदि उन्हें मौका मिलता है आगे पढ़ें »

महिला क्रिकेट रैंकिंग : स्मृति मंधाना ने गंवाया पहला स्थान, मिताली की लंबी छलांग

डेनमार्क ओपन : सिंधू व प्रणीत डेनमार्क ओपन के दूसरे दौर में पहुंचे

आदिल के गोल से भारत ने बांग्लादेश को बराबरी पर रोका

Praful Patel

ईडी ने प्रफुल्ल पटेल को भेजा समन, इकबाल मिर्ची की बिल्डिंग में है फ्लैट

Car crash

उत्तराखंड : कार खाई में गिरी, परिवार के तीन सदस्याें समेत पांच की मौत

Sonali Phogat

सबसे ज्‍यादा सर्च की जाने वाली हरियाणा की नेता बन गई हैं सोनाली,खट्टर और हुड्डा को छोड़ा पीछे

train

दैनिक रेलयात्रियों के लिए 12 नयी पैसेंजर ट्रेनें चलेंगी

afghan

अफगानिस्तान में चुनाव प्रचार के दौरान हिंसा में 85 आम लोग मारे गए, 373 घायल : संयुक्त राष्ट्र

ऊपर