शरद यादव के साथ महागठबंधन की बैठक से राजद और कांग्रेस ने बरती दूरी

पटना : बिहार में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले महागठबंधन के घटक दलों की समाजवादी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव के नेतृत्व में शुक्रवार को हुई बैठक से कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने दूरी बना ली।
लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के राष्ट्रीय संरक्षक शरद यादव की अगुवाई में यहां महागठबंधन के घटक दलों की बैठक हुई। इस बैठक में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी शामिल हुए। शरद यादव के साथ हुई बैठक में महागठबंधन के सभी शीर्ष नेताओं ने होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर गहन मंथन किया लेकिन प्रमुख घटक राजद और कांग्रेस के कोई भी नेता शामिल नहीं हुए। राजद और कांग्रेस के नेताओं ने इस बैठक से दूरी बना ली है। वहीं, लोजद के प्रदेश उपाध्यक्ष बीनू यादव ने यहां बताया कि बैठक में महागठबंधन की मजबूती के लिए घटक दलों के बीच तालमेल के लिए समन्वय समिति बनाए जाने पर विशेष रूप से चर्चा की गयी। उन्होंने बताया कि शरद यादव राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से मिलने के लिए रांची प्रस्थान कर गए। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व 13 फरवरी को रालोसपा अध्यक्ष कुशवाहा, हम के अध्यक्ष मांझी और वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने समाजवादी नेता शरद यादव से यहां मुलाकात की थी। महागठबंधन में मुख्यमंत्री का चेहरा विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव को बनाए जाने पर अभी तक आम सहमति नहीं बन सकी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आयुर्वेदिक स्प्रे से केएमसी कोरोना के रेड जोन को तब्दील कर रहा है ग्रीन जोन में

केएमसी ने लिया 'वंडर स्प्रे 'का सहारा, राजाबाजार व बेलगछिया में मिली सफलता  सिंकी सिंह, कोलकाता : कोलकाता में कोरोना वायरस का मीटर तेजी से बढ़ आगे पढ़ें »

पीएमओ से बंगाल सरकार को मिला पत्र, 1 जून से शत प्रतिशत कर्मचारी जूट मिलों में करेंगे काम

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि राज्य सरकार ने जूट मिलों को एक जून से 100 प्रतिशत कर्मचारियों के आगे पढ़ें »

ऊपर