कहीं आपके नाम की सिम का गलत इस्तेमाल तो नहीं हो रहा, घर बैठे ऐसे पता लगाएं

कोलकाता : गलत कामों को अंजाम देने के लिए कई लोग दूसरों को बलि का बकरा बना देते हैं। ऐसे कई मामले भी सामने आ चुके हैं, जिसमें गैरकानूनी काम करने के लिए लोग चोरी छिपे दूसरे के नाम से सिम निकलवा लेते हैं, और उनसे धमकी या ब्लैकमेलिंग जैसे कामों को अंजाम देते हैं। जिसके नाम से सिम है उसे पता नहीं होता। अगर आपके मन में थोड़ा सा भी डाउट है कि कोई आपके नाम के मोबाइल नंबर से गैरकानूनी काम तो नहीं कर रहा, तो 5 मिनट निकालकर चेक कर ही लीजिए।
मिनटों में पता चलेगा आपके नाम पर कितने नंबर एक्टिव
दूरसंचार विभाग के डिप्टी डायरेक्टर ने कहा कि दूसरों के डिटेल्स का इस्तेमाल करके मोबाइल सिम कार्ड लेने और इसका गैरकानूनी तरीके से इस्तेमाल करने के मामले लगातार सामने आए हैं। जिसे देखते हुए डिपार्टमेंट ने इस टूल को लॉन्च किया है। इस ऑनलाइन टूल की मदद से वे उन नंबरों से छुटकारा पा सकते हैं जिन्हें वे इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि इस वेबसाइट के जरिए लोगों को यह जानने में मदद मिलेगी की उनके नाम से कितने मोबाइल नंबर चल रहे हैं। इसके साथ ही वे इन नंबर्स को ब्लॉक करने की भी रिक्वेस्ट डाल सकते हैं।
घर बैठे ब्लॉक और डिएक्टिव करा सकेंगे नंबर
यूजर्स इस पोर्टल के जरिए आसानी से अपने नाम पर चल रहे कनेक्शन के बारे में जान सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपना कोई भी एक्टिव नंबर डालना होगा और फिर एक ओटीपी मिलेगा। इसकी मदद से वो आसानी से सभी एक्टिव नंबर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। डिपार्टमेंट सभी उपभोक्ताओं को एसएमएस के जरिए इस बात की जानकारी देगा कि उनके नाम पर कितने नंबर एक्टिव हैं। इसके बाद उपभोक्ता पोर्टल पर जाकर उन नंबर के बारे में रिपोर्ट कर सकते हैं जिन्हें वो इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं या फिर जिन्हें उनकी जरूरत नहीं है।यूजर की रिक्वेस्ट पर टेलिकॉम कंपनी या तो उस नंबर को ब्लॉक कर देंगी या डीएक्टिवेट कर देंगी। कंज्यूमर को टिकट आईडी प्रोवाइड की जाएगी जिसकी मदद से वो यह ट्रैक कर पाएंगे कि उनकी रिक्वेस्ट पर अभी तक कितना काम किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर