केरल में आपदा : बाढ़ प्रभाविताें के लिए विदेशी सरकारों से वित्तीय मदद नहीं लेगा भारत

नयी दिल्ली : केरल में आयी भीषण बाढ़ के बाद जहां मदद के लिए देश के हर कोने से हाथ उठ रहे हैं वही भारत ने गुरवार को यह साफ कर दिया कि वह अपनी एक मौजूदा नीति के तहत बाढ़ प्रभावित केरल के लिए विदेशी सरकारों से केई भी वित्तीय सहायता स्वीकार नहीं किया जायेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि सरकार केरल में राहत और पुनर्वास की जरूरतों को घरेलू प्रयासों के जरिए पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। उल्‍लेखनीय है कि केरल में बाढ़ राहत अभियानों के लिए कई देशों ने मदद की घोषणा की है। इसी कड़ी में खाड़ी देश यूएई ने केरल को 700 करोड़ रूपये की पेशकश की है वहीं कतर ने 35 करोड़ रूपये और मालदीव ने 35 लाख रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की है। हालांकि कुमार ने कहा कि अगर गैर प्रवासी भारतीयों और संस्‍थायें द्वारा प्रधानमंत्री राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में भेजे गए चंदे का स्वागत है। बाढ़ पीड़ितों के लिए केरल सरकार यूएई से चंदा स्वीकार करने की इच्छुक है। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि यूएई से बाढ़ राहत सहायता प्राप्त करने में यदि कोई बाधा है तो उसे दूर करने के लिए केरल सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क करेगी। कुमार ने कहा कि, भारत सरकार केरल में बाढ़ प्रभावितों को मदद की पेशकश करने को लेकर अन्य देशों की सराहना करता है।” सूत्रों ने बताया कि भारत ने पहले ही अपना फैसला बता दिया है कि वह विभिन्न देशों द्वारा केरल को दी जाने वाली मदद का प्रस्ताव नहीं स्वीकार करेगा। भारत में नियुक्त थाईलैंड के राजदूत सी एस गोंग्साकदी ने ट्वीट कर कहा कि भारत सरकार ने उनके देश से कहा है कि वह केरल में बाढ़ राहत सहायता के लिए विदेशों से चंदा स्वीकार नहीं करेगी। थाई राजदूत ने कहा कि हम भारत के लोगों के साथ खड़े हैं। आंकड़ों के मुताबिक करीब 30 लाख भारतीय यूएई में रहते हैं और वहां काम करते हैं जिनमें से 80 फीसदी केरल से हैं।

Leave a Comment

अन्य समाचार

सरकार ने जेकेएलएफ पर नकेल कसा, महबूबा उतरीं बचाव में

नई दिल्ली: भारत सरकार ने आतंकियों को संरक्षण प्रदान करने वाले संगठनों को मुहंतोड़ जवाब देना शरू कर दिया है। शुक्रवार को केंद्र सरकार ने कहा कि कई हिंसक घटनाओं और 1988 से जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने [Read more...]

कोलकाता में जन्मे जस्‍टिस पिनाकी घोष बने भारत के पहले लोकपाल

नई दिल्‍लीः सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष आधिकारिक रूप से भारत के पहले लोकपाल बन गए हैं। जस्टिस पिनाकी घोष ने शनिवार को देश के पहले लोकपाल की शपथ ग्रहण की। राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद [Read more...]

मोदी विरोधी शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटा, गिरिराज की बदली सीट

पाक को मुंहतोड़ जवाब, भारतीय सेना ने 6 चौकियां उड़ाईं, 2 अफसरों समेत 12 सैनिक मार गिराए

हिन्दी की बढ़ी लोकप्रियता, ये नए शब्द ऑक्सफोर्ड डिक्‍शनरी में शामिल

पाकिस्तान ने भगत सिंह को क्रांतिकारी माना, चौक का नाम भगत सिंह चौक रखा

चीन में केमिकल फैक्‍ट्री में भयंकर विस्‍फोट, 47 लोगों की मौत

बिहार में महागठबंधन की सीटों का ऐलान, राजद 20 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, कांग्रेस के खाते में 9, रालोसपा फायदे में

इस युवा बल्लेबाज ने 6 गेंदों पर छह छक्के जड़े और 25 गेंदों पर शतक, ‘यूनिवर्सल बॉस’ का रिकार्ड तोड़ा

पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने भाजपा का दामन थामा, कहा- पीएम मोदी से हैं प्रभावित

मुख्य समाचार

सरकार ने जेकेएलएफ पर नकेल कसा, महबूबा उतरीं बचाव में

नई दिल्ली: भारत सरकार ने आतंकियों को संरक्षण प्रदान करने वाले संगठनों को मुहंतोड़ जवाब देना शरू कर दिया है। शुक्रवार को केंद्र सरकार ने कहा कि कई हिंसक घटनाओं और 1988 से जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने [Read more...]

कोलकाता में जन्मे जस्‍टिस पिनाकी घोष बने भारत के पहले लोकपाल

नई दिल्‍लीः सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष आधिकारिक रूप से भारत के पहले लोकपाल बन गए हैं। जस्टिस पिनाकी घोष ने शनिवार को देश के पहले लोकपाल की शपथ ग्रहण की। राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद [Read more...]

ऊपर