शिबू सोरेन ने दाखिल किया राज्यसभा चुनाव का पर्चा

रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) सुप्रीमो शिबू सोरेन ने बुधवार को झारखंड की दो में से एक राज्यसभा सीट के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।
शिबू सोरेन बुधवार को यहां अपने पुत्र एवं राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तथा झामुमो और कांग्रेस के कई विधायकों के साथ विधानसभा सचिवालय पहुंचे और सचिव महेंद्र प्रसाद को अपना नामांकन पत्र सौंपा। शिबू सोरेन के नामांकन का प्रस्ताव झामुमो विधायक जगरनाथ महतो, दिनेश विलियम मरांडी, मिथिलेश कुमार ठाकुर, जिगा सुसरण होरो, निरल पुर्ती, भूषण तिर्की, विकास कुमार मुंडा, रामदास सोरेन, संजीब सरदार एवं समीर कुमार मोहंती ने किया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शिबू सोरेन के नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद कहा कि झामुमो अध्यक्ष राज्यसभा के लिए अवश्य निर्वाचित होंगे। उन्होंने कहा कि महागठबंधन झारखंड की दूसरी राज्यसभा सीट के उम्मीदवार के नाम पर विचार कर रहा है और शीघ्र ही नाम की घोषणा कर दी जाएगी। हेमंत सोरेन ने मध्यप्रदेश के राजनीतिक उठापटक पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। हालांकि झारखंड में मध्यप्रदेश जैसी स्थिति की पुनरावृत्ति होने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी राज्यसभा के लिए अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा करेगी या नहीं, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। वहीं, झारखंड कांग्रेस के अध्यक्ष एवं राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने दावा किया कि प्रदेश की दोनों राज्यसभा सीट पर महागठबंधन के उम्मीदवार ही विजयी होंगे। उल्लेखनीय है कि शिबू सोरेन पूर्व में वर्ष 1998 और 2002 में राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। राज्यसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी 13 मार्च 2020 तक पर्चा भर सकेंगे। वहीं, नामांकन पत्रों की जांच 16 मार्च को होगी। उम्मीदवार 18 मार्च तक अपने नाम वापस ले सकेंगे। झारखंड में राज्यसभा की दो सीट के लिए मतदान 26 मार्च को होगा। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रेमचंद गुप्ता एवं निर्दलीय परिमल नथवानी का कार्यकाल 9 अप्रैल 2020 को समाप्त होने के कारण झारखंड में राज्यसभा की दो सीटें रिक्त हो रही हैं। झारखंड में राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए उम्मीदवार को 81 सदस्यीय विधानसभा के 27 विधायकों के वोट की जरूरत होगी। वर्तमान में विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो को मिलाकर कुल 80 विधायक राज्यसभा के चुनाव में मतदान करने के पात्र हैं। झारखंड की 81 सदस्यीय विधानसभा में झामुमो के 29, भाजपा के बाबूलाल मरांडी के साथ कुल 26, कांग्रेस के 16, झारखंड विकास मोर्चा से निष्कासित दो, आजसू के दो, राजद का एक, भाकपा माले:लिबरेशन: के एक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के एक और दो निर्दलीय विधायक हैं। भाजपा ने अब तक अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है जबकि दूसरी ओर झामुमो-कांग्रेस गठबंधन दूसरी सीट के लिए भी उम्मीदवार घोषित करने की तैयारी में है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सेरेना विलियम्स फिट, छह महीने के ब्रेक के बाद खेलने को तैयार

लेक्सिंगटन (अमेरिका) : अमेरिका की 23 बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन सेरेना विलियम्स अब पूरी तरह फिट हैं और छह महीने के ब्रेक के बाद टेनिस आगे पढ़ें »

लंबा नहीं चलेगा जसप्रीत बुमराह का करियर : शोएब अख्तर

इस्‍लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का कहना है कि जसप्रीत बुमराह प्रतिभावान गेंदबाज हैं, लेकिन अपने मुश्किल गेंदबाजी एक्शन के कारण आगे पढ़ें »

ऊपर