हाई ब्लडप्रेशर या हाइपरटेंशन की समस्या में ऐसे रखें खुद का ख्याल

नई दिल्ली :  हाई ब्लडप्रेशर या हाइपरटेंशन से दुनिया भर में लोग ग्रस्त हैं। इस समस्या में धमनियों में ब्लड का प्रेशर बढ़ जाता है। इसमें समय पर जानकारी ही जान बचा सकती है, इसका इलाज अगर समय पर ना किया जाए तो यह स्ट्रोक, हार्ट, किडनी और आंखों की अन्य समस्या हो सकती है। ब्लडपप्रेशर लगातार हाई या 120/80 एमएमएचजी से ज्यादा रहता है, तो डॉक्टर से सलाह लें। दवाओं के साथ ही लाइफस्टाआइल में भी बदलाव कर के हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकती हैं।

इसके अलावा, नमक का सेवन कम करना, पोटेशियम से भरपूर फूड्स ज्यादा लेने, जंक फूड, स्मो‍किंग और एल्कोहल से बचने और वजन को कंट्रोल जैसे कुछ बदलाव से आप हाई ब्लड प्रेशर को आसानी से कंट्रोल कर सकती हैं। हाई बीपी से परेशान महिलाओं के लिए फ्लैक्स सीड्स यानि अलसी के बीज का सेवन भी लाभदायक है।

हाई बीपी में अलसी का सेवन
इसके कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स हैं। यह वज़न कम करता है। हाई बीपी को कंट्रोल करने के लिए वेट को कंट्रोल करना बेहद जरूरी है, क्योंकि इस बीमारी में मोटापा बेहद आम है। अलसी के बीजों में पोटैशियम की मात्रा होती है जो हाई बीपी रोगियों के लिए अमृत का काम करती है, यह नमक के प्रभाव को कम करती है। इसके अलावा शरीर में अतिरिक्त सोडियम पानी के संतुलन को बिगाड़ता है और इससे हाई बीपी होता है।

पोटेशियम सामग्री वासोडिलेटर के रूप में काम करती है और यूरीन के माध्यम से एक्ट्रा सोडियम को दूर करता है। 100 ग्राम फ्लैक्ससीड्स में 813 मिलीग्राम पोटेशियम होता है। यही नहीं, ये बीज ब्लिड ग्लूकोज और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कंट्रोल में रखने में हेल्प करता है। एक अध्ययन के मुताबिक जिन लोगों ने हेल्दी डाइट के साथ फ्लैक्स सीड लिया, उनमें सिस्टोलिक और डायस्टोलिक प्रेशर कम पाया गया। अलसी का सेवन करने से ब्लड प्रेशर को पॉजिटीव रुप से प्रभावित करता है।

अलसी के फायदें
पोटेशियम के अलावा, अलसी के बीज ओमेगा -3 फैटी एसिड और फाइबर से भी भरपूर होते हैं और ये पोषक तत्व स्वास्थ के लिए जरूरी है। अलसी मे मौजूद अल्फा-लिनोलेनिक एसिड और लिगनान भी हाई बीपी को कंट्रोल में रखने में हेल्पक करते हैं। ये लिगनेन डाइजेशन हेल्थथ, डायबिटीज के जोखिम और खराब कोलेस्ट्रॉल में भी सुधार करते हैं। आप चाहे तो इसे ऐसे ही पानी में भिगोकर ले सकती हैं या चाहे तो इसको पीसकर पाउडर बनाकर भी दही, ओटमील, स्मूदी और बेक्ड चीजों में इस्तेमाल कर सकती है। अगर आप अलसी का बहुत ज्याादा फायदे पाना चाहती हैं तो अंकुरित अलसी लें, इसमें प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा बहुत ज्यादा होती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर