प्रेगनेंसी को लेकर हर औरत में होता है टोकोफोबिया

नई दिल्ली : दिल वाले दुल्हथनियां ले जाएंगे और शांति जैसे सीरियल से घर घर पहचानी जाने वाली लड़की मंदिरा बेदी अपनी फिटनेस को लेकर हसेशा ही चर्चा में रहती हैं। अपने फिटनेस के वीडियो और फोटो इंस्टा ग्राम पर भी वो शेयर करती रहती हैं। हाल ही में उन्होंेने पर एक इंटरव्यूघ में बताया कि डर के कारण वह 12 साल तक प्रेग्नें ट नहीं हुईं। आपको बता दें कि य़ह डर आमतौर पर महिलओं में देखा जाता है।

एक इंटरव्यू में मंदिरा ने कहा कि 30 की उम्र में मुझमें असुरक्षा की भावना ने घर कर लिया था, लेकिन 40 साल की उम्र के बाद अब मुझे बहुत अच्छाे महसूस होता है और मैं आज खुद से बेहद प्याउर करती हूं। मंदिरा ने कहा कि करियर की शुरुआत में मेरे अंदर एक अजीब सा डर था कि कहीं मेरा करियर खत्मद ना हो जाए, क्योंाकि बाकी स्टाार मुझसे बहुत ज्या दा मेहनत करते थे। मुझे उस समय सबसे ज्या दा डर महसूस हुआ, जब मेरी जगह किसी और स्पोर्ट्स एंकर को जगह दे दी गई। लोग मुझसे सवाल पूछते थे कि तुमने क्रिकेट कमेंटटर की जॉब क्यों छोड़ दी। मुझे ये बात अपनाने में काफी समय लगा कि मैंने जॉब नहीं छोड़ी, बल्कि मुझे चेंज कर दिया गया था।

1999 में डायरेक्टसर राज कौशल से मंदिरा ने शादी की और 12 साल बाद मंदिरा ने एक बेटे को जन्मथ दिया। शादी के इतने साल बाद प्रेग्नेंकसी के सवाल पर उन्होंोने बताया कि जब मैं 39 साल की थी तब मैंने एक बेटे को जन्म दिया। मुझे डर था कि अगर मैं प्रेग्नेंट हो गई तो मेरा करियर खत्म हो जाएगा, लेकिन इसमें परिवार ने मेरा पूरा साथ दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर