बादल फटने और आग से हुए नुकसान पर भी मुआवजा देगी सरकार

Crop destroyed due to Fire

नई दिल्ली : किसानों ‌के लगातार गिरते आर्थिक हालात को देखते हुए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा कराने की नई व्यवस्‍था लागू की है। इस योजना के तहत किसानों को अब बादल फटने और प्राकृतिक रूप से आग लगने जैसी आपदाओं पर भी मुआवजा दिया जाएगा। केंद्र सरकार की इस योजना में पहले केवल जलभराव, ओलावृष्टि और भूस्खलन जैसी आपदाओं में ही किसानों के खेतों की जांच होती थी लेकिन अब इस जांच में बादल फटना और आग लगने जैसी घटनाओं में भी शमिल कर लिया गया है।

ऑनलाइन आवेदन भी कर सकता है किसान

केंद्र सरकार द्वारा चलायी गयी इस बीमा योजना के लिए किसान अब ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए किसान को फार्मर एप्लीकेशन यानी किसान आवेदन का विकल्प चुनना होगा। इस विकल्प पर क्लिक करते ही फॉर्म खुलकर सामने आ जायेगा। इस फॉर्म में किसान के बारे में, उसके गांव के बारे में और बैंक व खेती से जुड़े दस्तावेजों की जानकारी मांगी जाएगी। इस जानकारी को भर कर किसान अपने आवेदन की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मौसम आधारित फसल यानी सब्जी-भाजी, फल का बीमा और कृषि का बीमा 31 जुलाई तक करा सकते हैं।

दावाें के लिए किसानों की अपेक्षाएं

इस योजना के तहत पहला है दावाें का ऑन अकाउंट भुगतान। यह उस फसल के लिए लागू होगा जिसमें मौसम में पैदावार 50 प्रतिशत होने की संभावना होती है। सामान्य फसल की कटाई या तुड़ाई शुरू होने से 15 दिनों पहले आपदा पर यह लागू नहीं होगा। दूसरा है आपदा का व्यापक फैलाव। यह क्षेत्र के दृष्टिकोण के आधार पर संचालित होता है। वहीं दावे की गणना राज्य सरकार द्वारा किए गए फसल कटाई प्रयोग के आधार पर की जाएगी। तीसरा है बचाव, रोपाई, अंकुरण के दावे। यह बीमा इकाई (ग्राम पंचायत) का 75 प्रतिशत से अधिक फसल के प्रभावित होने पर होगी। यह प्रावधान बारिश के आंकड़े, उपग्रह से प्राप्त छाया चित्र के आधार पर क्षति की अधिसूचना के जरिये किया जायेगा और चौथा है स्थानीय जोखिम। इसका संचालन व्यक्तिगत जमीन के आधार पर किया जायेगा। किसान को आपदा होने के 72 घंटे के अंदर सूचना देना होगी। साथ ही साक्ष्य के रूप में पूरी तरह भरा हुआ दावा फार्म 7 दिनों के भीतर जमा कराना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पूर्व मुख्यमंत्री पर लगा फोन टैपिंग का आरोप, येदियुरप्पा बोले- होगी सीबीआई जांच

बेंगलुरू : कर्नाटक में नई सरकार आने के बाद से लगातार फोन टैपिंग का मामला गरमाया हुआ है। रविवार को मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इस आगे पढ़ें »

गूगल मैप ने चार महीने से लापता बेटी को पिता से मिलाया

नयी दिल्लीः गूगल मैप की सहायता से दिल्ली पुलिस ने चार महीने से लापता हुई 12 वर्षीय बच्ची को उसके पिता से मिला दिया। पुलिस आगे पढ़ें »

ऊपर