ईडी ने बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में कमलनाथ के भांजे पुरी को किया गिरफ्तार

puri

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे एवं मोजर बेयर कंपनी के पूर्व निदेशक रतुल पुरी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 354 करोड़ रुपए के बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार कर लिया है। अधिकारियों ने मंगलवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की शिकायत पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रतुल पुरी और 4 अन्य लोगों के खिलाफ रविवार को केस दर्ज किया था। इस मामले में ईडी ने धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत रतुल पुरी को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही बताया कि उन्हें मंगलवार काे अदालत में पेश किया जाएगा।

एसबीआई ने दर्ज कराई शिकायत

दरअसल, यह मामला सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत पर दर्ज किया गया था। बैंक ने शिकायत में आरोप लगाया कि कंपनी साल 2009 से विभिन्न बैंकों से लोन ले रही थी और कई बार पुनर्भुगतान की शर्तों में बदलाव करा चुकी थी। बैंक की यह शिकायत अब सीबीआई की एफआईआर का हिस्सा है। इसमें आरोप लगाया गया कि जब वह (कंपनी) कर्ज का भुगतान करने में असमर्थ रही तो एक फॉरेन्सिक ऑडिट किया गया और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने खाते को 20 अप्रैल 2019 को ‘फर्जी’ घोषित कर दिया। बैंक का दावा है कि कंपनी और उसके निदेशकों ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया से फंड जारी कराने के लिए नकली और जाली दस्तावेजों का प्रयोग किया।

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भी चल रहा जांच

दरअसल, रतुल पर अगस्ता वेस्टलैंड मामले में उनकी कंपनी के जरिए रिश्वत लेने का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय ने 3600 करोड़ रुपये के वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाला मामले में भी ‘हिन्दुस्तान पावर प्रोजेक्टस प्राइवेट (एचपीपी) लिमिटेड’ के अध्यक्ष पुरी के खिलाफ जांच कर रहा है। बता दें कि इसे रतुल पुरी और कमलनाथ परिवार के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है। इससे पहले सोमवार को ईडी ने अदालत से कहा था कि रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड के मामले में जांच से बच रहे हैं। पुरी ने अपने खिलाफ गैर जमानती वारंट रद्द करने के लिए अदालत में याचिका दायर की थी।

अन्य आरोपियों के ठिकानों पर मारे गये छापे

सीबीआई ने जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था उनमें पुरी के अलावा कंपनी (एमबीआईएल), उनके पिता और प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, नीता पुरी (रतुल की मां और कमलनाथ की बहन), संजय जैन और विनीत शर्मा शामिल हैं। अधिकारियों ने बताया कि इन पर आपराधिक षड्यंत्र रचने, धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा और भ्रष्टाचार के आरोप हैं। बैंक ने एक बयान में बताया कि रतुल ने साल 2012 में कार्यकारी निदेशक के पद से इस्तीफा दे दिया था जबकि उनके माता-पिता निदेशक मंडल में रहे। सीबीआई ने सोमवार को 6 स्थानों पर छापेमारी भी की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आपके बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुंचाऊंगा – बाबुल

देवाजंन की मां ने लगायी बाबुल से बेटे को माफ करने की गुहार कोलकाता : सोशल मीडिया पर उनके बेटे की पोस्ट वायरल हुई है जिसमें आगे पढ़ें »

राजीव कुमार की हो सकती है हत्या – सोमेन

कोलकाता : एक ओर जहां कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई दिन - रात ढूंढ रही है तो वहीं इस बीच, प्रदेश आगे पढ़ें »

ऊपर