क्या आप भी रात में AC चलाकर सोते हैं? ऐसा करने से पहले जान लें बातें

शेयर करे

कोलकाता : गर्मी का मौसम पूरे देश में अपना तेवर दिखा रहा है और लोग सूरज की तल्‍खी से बचने के लिए एयर कंडीशनर का सहारा ले रहे हैं। एसी ठंडी हवा फेंकता है और थोड़ी ही देर में पूरे कमरे को ठंडा कर देता है। इसलिए गर्मी से बचने के लिए ज्यादातर घरों में एसी का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन इसकी हवा सेहत के लिए भी हानिकारक हो सकती है। खासकर रात में सोते समय एसी चलाने से आराम मिलता है, लेकिन इसे गलत तरीके से इस्तेमाल करने से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। आइए आपको बताते हैं कि रात में सोते समय एसी चलाने से क्या हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।
1. नींद की समस्या
रात में एसी चलाकर होने से कई बार कमरा बहुत ठंडा हो जाता है। बहुत ज्यादा ठंडे कमरे में सोने से स्वास्थ संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। ठंड से नींद में खलल भी पड़ सकता है। साथ ही आपको सर्दी-जुकाम भी हो सकता है। अच्छी नींद के लिए एसी का तापमान आरामदायक रखें।
2. मांसपेशियों में अकड़न और दर्द
ठंडे कमरे में सोने से मांसपेशियों में अकड़न और जोड़ों में दर्द हो सकता है। ठंड मांसपेशियों को सिकोड़ देती है, जिससे अकड़न और दर्द होता है। गठिया जैसी समस्याओं वाले लोगों को AC की ठंडी हवा और भी ज्यादा तकलीफ दे सकती है। इससे बचने के लिए एसी का तापमान ज्यादा कम न रखें, सोते समय कंबल ओढ़ें और सोने से पहले हल्का व्यायाम करें।

3. सांस लेने में तकलीफ
ठंडी हवा सीधे नाक और गले में जाने से खांसी, घरघराहट, सीने में जकड़न और सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्याएं हो सकती हैं। खराब रख-रखाव वाले एसी से हवा में धूल और प्रदूषण फैल सकता है, जिससे सांस की समस्या और बढ़ सकती है। इससे बचने के लिए एसी का तापमान बैलेंस्ड रखें, ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करें और नियमित रूप से एसी की सफाई करवाएं।

4. कमजोर इम्यून सिस्टम
एसी की ठंडी हवा शरीर के इम्यून सिस्टम को कमजोर कर सकती है, जिससे सर्दी- जुकाम और वायरल इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए कमरे का तापमान आरामदायक रखें, साफ-सफाई का ध्यान रखें और बीमार लोगों से दूर रहें।

5. एलर्जी का बढ़ना
एसी से हवा में धूल, फफूंद और पालतू जानवरों के बाल घूम सकते हैं, जिससे एलर्जी की समस्या बढ़ सकती है। कम ह्यूमिडिटी वाले कमरे में ये समस्याएं और ज्यादा गंभीर हो जाती हैं। इससे बचने के लिए एसी में हाई-एफिशिएंसी पार्टिकुलेट एयर (एचईपीए) फिल्टर लगाएं, एयर फिल्टर को नियमित रूप से साफ करें और कमरे को साफ रखें।

6. त्वचा और आंखों का रूखापन
एसी की ठंडी हवा कमरे में नमी कम कर देती है, जिससे त्वचा और आंखें रूखी हो सकती हैं। इससे खुजली, जलन और आंखों में धुंधलापन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इससे बचने के लिए ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करें, सोने से पहले त्वचा पर मॉइस्चराइजर लगाएं।

Visited 4,829 times, 1 visit(s) today
2
2

मुख्य समाचार

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
कोलकाता : महानगर में पिछले पांच सालों में 30 से ज्यादा फायरिंग की घटनाएं घट चुकी हैं। यह जानकारी हाल
कोलकाता : विभिन्न मार्केट में हॉकरों के ढर्रे में कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं। सीएम ममता बनर्जी की
16 जुलाई से बढ़ाकर की गयी 19 जुलाई कोलकाता : बीए, बीएससी और बीकॉम की परीक्षा में ऑनलाइन फॉर्म जमा
कोलकाता : महज 25 वर्ष की उम्र में मधुपर्णा ठाकुर विधायक बनी हैं और ऐसा कर उन्होंने सबसे कम उम्र
कोलकाता : ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने रायगंज, बागदा, राणाघाट दक्षिण और मानिकतला सीट पर हुए उपचुनाव में
कोलकाता : चिंगड़ीहाटा फ्लाईओवर बीमार है, इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन इतना भी नहीं कि इसे तोड़ने की
अल्टीमेटम का असर : 3 दिन के अभियान में 20% तक कम हुईं सब्जियों की कीमतें कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता
मिलेंगे और मौके, उच्च शिक्षा विभाग 2 राउंड की काउंसलिंग करेगा आयोजित सेंट्रलाइज्ड एडमिशन पोर्टल की​ पहली मेरिट लिस्ट जारी
ऊपर