10 सेकेंड में फैल जाता है कोरोना, जानिए किसे है ज्यादा खतरा और किसे कम

नई दिल्ली : कोरोना वायरस चीन समेत पूरी दुनिया के लिए बड़ी महामारी बनती जा रही है। कोरोना के मामले सऊदी अरब में भी सामने आए हैं, ऐसे में हज यात्रा भी खतरे में पड़ गई है। कोरना के 200 से ज्यादा मामले सऊदी अरब और 3000 से ज्यादा मामले साउथ कोरिया में सामने आए। चीन में इस बीमारी के सबसे खतरनाक प्रकोप सामने आया है और चीन में 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 82000 से ज्यादा लोग इसके चपेट में हैं।

इस बीमारी को लेकर लगातार रिसर्च चल रहे हैं। चीन में इस बीमारी को लेकर नई जानकारी सामने आई है, जिसके मुताबिक चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने स्टडी किया है, जिसके मुताबिक 11 फरवरी तक जो 44,672 कोरोना वायरस केस पता चले हैं और उनमें से 81 प्रतिशत लोगों का इन्फेक्शन जानलेवा नहीं है, हालांकि कोरोना के प्रभाव उनमें भी खतरनाक है।  कोरोना वायरस से प्रभावित लोग भी ठीक हो सकते हैं। जिन्हें कम इन्फेक्शन है, उन्हें कम खतरा है और जिनका इन्फेक्शन निमोनिया तक नहीं पहुंचा उन्हें आराम मिल सकता है। इस स्टडी के मुताबिक इस बीमारी के प्रभाव लंग इंफेक्शन या फेंफड़ों तक नहीं पहुंचें तो ठीक होने की उम्मीद है।

ट्रेडमिल पर किए जाने वाले इन खास एक्सरसाइजेज के बारे में नहीं जानती होंगी आप, पढ़ें

लक्षणों को ना करें इग्नोर
रिपोर्ट के मुताबिक इसके लक्षण नॉर्मल फ्लू जैसे होते हैं, ऐसे में लोग इसे सीरियसली नहीं लेते। ये लक्षण असल में घातक भी हो सकते हैं, क्योंकि कई लोग इसे नॉर्मल सर्दी-बुखार समझ कर डॉक्टर की सलाह नहीं लेते हैं या खुद ही दवा करने की कोशिश करते हैं। लापरवाही के कारण वे खुद और दूसरों को भी खतरे में डालते हैं। यह वायरस उन्हें जल्दी चपेट में लेता है, जिनकी इम्यूनिटी कमजोर है। रिपोर्ट के मुताबिक यह वायरस उन्हें जल्दी चपेट में लेती है, जिन्हें सांस या लंग्स की समस्या हो। उनके लिए ये जानलेवा साबित हो सकता है। ऐसे में लक्षणों को नजरअंदाज करने के बजाय डॉक्टरों से सलाह लें।

मधुमेह के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार

डब्ल्यूएचओ की चेतावनी
डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि आप इसे बाकायदा वेबसाइट पर पढ़ सकती हैं। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक यह बहुत खतरनाक वायरस है, यह न सिर्फ इंसानों में बल्कि जानवरों में भी फैल सकता है। इसके लक्षण नॉर्मल सर्दी-जुकाम से लेकर निमोनिया तक हो सकते हैं और इसका असर किडनी फेलियर से लेकर फेफड़ों में पानी भरने तक हो सकता है।

10 सेकंड में फ़ैलता है कोरोना
एक रिपोर्ट में पता चला है कि कोरोना 10 सेकंड में फ़ैल जाता है और कमजोर इम्युनिटी वाले किसी व्यक्ति को ये वायरस जल्दी अपनी चपेट में ले सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर