चिदंबरम को नहीं मिली राहत, शीर्ष न्यायालय ने खारिज की अग्रिम जमानत की याचिका

chidambaram

नई दिल्लीः कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के आईएनएक्स हेराफेरी मामले में दाखिल हुई उनकी अग्रिम जमानत याचिका को शीर्ष न्यायालय ने खारिज कर दिया है। शीर्ष न्यायालय के जस्टिस रमन्ना की बेंच ने चिदम्बरम की याचिका पर सुनवाई से इनकार करते हुए उसे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के पास भेज दिया है। इस तरह शीर्ष न्यायालय से चिदंबरम को फिलहाल कोई राहत नहीं मिली है

सीबीआई और ईडी ने याचिका का किया विरोध

बता दें कि पी चिदंबरम की तरफ से कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और विवेक तनखा शीर्ष न्यायालय पहुंचे थे। कपिल ‌सिब्बल ने जस्टिस रमन्ना की तीन जजों की बेंच को सामने आग्रह किया कि, चीफ जस्टिस की कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई हो रही इसलिए उनकी अपील को जल्दी सुना जाए। इससे पहले सीबीआई और ईडी ने चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया। ईडी की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि चिदंबरम पर मनी लॉन्ड्रिंग का गंभीर आरोप है।

कपिल सिब्‍बल ने कहा गिरफ्तारी का है डर

कपिल सिब्बल ने शीर्ष न्यायलय में सुनवाई के दौरान कहा कि हमें ‌गिरफ्तारी का डर है इस‌लिए हमारी याचिका सुन लिजिए। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय ने भी अपील का समय नहीं दिया इसलिए फिलहाल गिरफ्तारी से राहत मिले। इसपर जिस्टिस रमन्ना ने कहा कि ये मुख्य न्यायाधीश तय करेंगे की कब और कौन सुनवाई करेगा। वहीं पी. चिदंबरम ने अपनी सफाई में कहा कि वो राज्यसभा सदस्य हैं इसलिए उनके भागने की आशंका नहीं है, उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत नहीं। गौरतलब है कि जीफ जस्टिस की बेंच अभी अयोध्या मामले की सुनवाई कर रही इस‌लिए, फिलहाल चिदंबरम को राहत मिलना मुश्किल है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

kisan march

यूपी के किसान अपनी मांग को लेकर दिल्ली पहुंचे, पुलिस हाई अलर्ट पर

नई दिल्‍ली : उत्तर प्रदेश के किसान अपनी मांगों को लेकर शनिवार को दिल्ली में प्रदर्शन करेंगे। भारतीय किसान संगठन के नेतृत्व में हजारों की आगे पढ़ें »

trump

ट्रम्प ने कहा- चीन दुनिया के लिए खतरा है

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्‍प ने चीन की बढ़ती सैन्य ताकत पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह वामपंथी राष्ट्र दुनिया के आगे पढ़ें »

ऊपर