सोमवार को डॉक्टर करेंगे देशव्यापी हड़ताल

नई दिल्ली:  पश्चिम बंगाल से शुरू हुई जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का पूरे देश भर में बहुत गहरा प्रभाव पड़ाता दिख रहा है। डॉक्टरों की यह हड़ताल अब देशव्यापी हड़ताल में बदलने जा रही है। डॉक्टरों के साथ हुई हिंसा के खिलाफ दिल्ली मेडिकल असोसिएशन (डीएमए) और इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) ने भी समर्थन दिया और इसकी निंदा करते हुए 17 जून को देशव्यापी हड़ताल करने का ऐलान किया है। बता दें कि शुक्रवार को डीएमए के आह्वान पर दिल्ली के निजी अस्पतालों में भी शुक्रवार को ओपीडी बंद रखा गया था।
कई बड़े अस्पतालों के ओपीडी रहे बंद
डीएमए के सचिव डॉक्टर अरविंद चोपड़ा ने बताया कि अपोलो, मैक्स, गंगाराम, फोर्टिस, माता चानन देवी, महाराजा अग्रसेन, एक्शन बालाजी जैसे अस्पतालों ने भी डॉक्टरों की इस हड़ताल का समर्थन करते हुए अपने यहां ओपीडी बंद रखी।
पैन इंडिया स्ट्राइक की घोषणा
देश के 19 राज्यों के डॉक्टरों ने 17 जून को एक साथ मिलकर पैन इंडिया स्ट्राइक की घोषणा की है। इसकी घोषणा की जानकारी सभी ने अपने-अपने राज्यों को दे दी है। आरडीए के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से मुलाकात कर अपनी मांगें रखी हैं।
आश्वासन पर चुप नहीं रहेंगे
डॉक्टर मनु गौतम ने कहा कि हर बार की तरह हम इस बार आश्वासन पर चुप नहीं रह सकते। उन्होंने कहा, ‘मैं खुद के मार खाने का इंतजार नहीं कर सकता। अगर इन दो दिनों में सरकार कुछ नहीं करती है तो 17 जून को पूरे देश में सभी स्वास्थ्य सेवाएं ठप कर दी जाएंगी।
सौंप सकते हैं मेडिकल रजिस्ट्रेशन
ओपीडी, इमरजेंसी, वॉर्ड, सर्जरी कुछ नहीं चलेगा। इसके बाद भी अगर सरकार हमारी मांगों को नहीं मानती है तो हम 19 जून से अपने मेडिकल रजिस्ट्रेशन तक सौंपने पर विचार कर सकते हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 27,114 नए मामले

नयी दिल्ली : देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 27,114 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ देश में आगे पढ़ें »

भारतीय अर्थव्यवस्था के वापस सामान्य स्थिति की ओर लौटने के संकेत दिखने शुरू : आरबीआई

नयी दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि लॉकडाउन के प्रतिबंध हटने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था के वापस सामान्य स्थिति आगे पढ़ें »

ऊपर