सरकार को कर आतंकवाद रोकना चाहिए : मनमोहन सिंह

सोची समझी रणनीति से ही भारत बनेगा 5 हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था
जयपुर : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उदारीकरण की नीतियों पर खड़े किये गये आर्थिक सुधारों को जारी रखने की जरूरत पर बल देते हुए शनिवार को कहा कि एक सोची समझी रणनीति से ही भारत को पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाया जा सकता है। वे यहां एक निजी विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गरीबी, सामाजिक असमानता, सांप्रदायिकता व धार्मिक कट्टरवाद तथा भ्रष्टाचार लोकतंत्र के समक्ष कुछ प्रमुख चुनौतियां हैं। इस समय हमारी अर्थव्यवस्था धीमी पड़ती दिखती है। जीडीपी वृद्धि दर में गिरावट आ रही है। निवेश की दर स्थिर, किसान संकट में व बैंकिंग प्रणाली संकट का सामना कर रही है। बेरोजगारी बढ़ रही है। सरकार को कर आतंकवाद रोकना चाहिए, भिन्न विचारों की आवाजों का सम्मान करना चाहिए और सरकार के हर स्तर पर संतुलन लाना चाहिए। देश में लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने की वकालत करते हुए सिंह ने कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए आने वाले समय में सिद्धांतवादी, ज्ञानी और दूरदर्शी नेताओं की जरूरत है। लोकतंत्र की शक्ति संविधान में निहित है और राजनीतिक दलों को संविधान में उल्लेखित मूल्यों की रक्षा के लिए प्रतिबद्धता जतानी होगी। हमारी एकता बनी रहे इसके लिए जरूरी है कि सरकार न्याय, स्वतंत्रता व समानता के साथ-साथ ऐसा वातावरण दे, जो भिन्न विचारों का सम्मान करता हो। हमें हमेशा अपराध और भ्रष्टाचार को कम करने, विधिसम्मत शासन को मजबूत करने तथा विकास के एक इंजन के रूप में निवेश के लिए अनुकूल माहौल बनाने के उद्देश्य से काम करना चाहिए। सिंह को जेकेएलयू लॉरेट अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Inflation reaches the sky in Pakistan, people are fascinated by food and grains

खाने पीने की कीमतों में बढ़ोतरी, थोक महंगाई दर अगस्त में 1.08 फीसद

नई दिल्ली : खाने-पीने के सामानों की कीमतों में बढ़ोत्तरी के बाद भी थोक महंगाई दर (डब्ल्यूपीआई) अगस्त में 1.08 फीसद पर बनी रही, लेकिन आगे पढ़ें »

ashes 2019

इंग्‍लैंड-ऑस्‍ट्रेलिया ने 2-2 से सीरीज ड्रॉ कर 47 साल बाद एशेज में दोहराया इतिहास

लंदन: इंग्‍लैंड ने द ओवल में खेले गए पांचवें व अंतिम टेस्‍ट में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया को 135 रन से मात दी। इसी आगे पढ़ें »

ऊपर