शिवसेना ने चेताया, भारत के मामलों में दखल न दे अमेरिका

मुंबई : भारत में अल्पसंख्यकों पर हमले वाली अमेरिकी विदेश मंत्रालय की रिपोर्ट पर शिवसेना का गुस्सा भड़क गया है। उसने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए अमेरिका को चेताया है कि वह भारत के आंतरिक मामलों में दखल न दे। शिवसेना ने भारत को वैश्वि महासता भी
हिंसा रोक पाने में विफल रहने का आरोप
दरअसल गत दिनों अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए इसके हवाले से कहा था कि भारत में धर्म के नाम पर हिंसा बढ़ गई है। साथ ही उसने हिंदू संगठनों द्वारा अल्पसंख्यकों और मुसलमानों पर हमले किए जाने की बात भी कही थी। रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाया गया है कि देश में बढ़ रहे हिंसा को रोकने में मोदी सरकार नाकाम रही है। अमेरिका के इसी बयान पर शिवसेना ने निशाना साधा है।
भारत ही एकमेव वैश्विक महासत्ता
शिवसेना ने अपने मुखपत्र में लिखा है “अमेरिका में सरकार किसी की भी हो लेकिन वे स्वघोषित पालनहार होते हैं। भारत ही एकमेव वैश्विक महासत्ता हैं जो पूरी दुनिया को सयानापन सिखाने का जिम्मा लेकर बैठा है। ऐसे अमेरिका के हर सत्ताधारी को लगता है तो इसमें कुछ गलत भी नहीं हैं। इसलिए अमेरिका के विदेश मंत्रालय में भारत के संप्रदायिक हिंसा को लेकर बेचैनी छाई हुई हैं।”
बेगानी शादी में अब्दुल्ला न बने अमेरिका
अपने मुखपत्र के जरिए अमेरिका पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा कि भारत के मामलों में उसे अपनी राय देने का अधिकार किसने दिया। अमेरिका को कम से कम ये चाहिए कि भारत के मामले में बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना जैसी हरकत छोड़ दे। शिवसेना ने कहा कि भारत में सांप्रदायिक सौहार्द और शांति की जिम्मदारी यहां की सरकार की है और हम जानते हैं कि हमें इससे कैसे निपटना है। साथ ही अमेरिका की ट्रम्प सरकार को सुझाव देते हुए कहा कि वह पहले अपना घर देखे।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब अमेरिका ने भारत पर सामुदायिक हिंसा का आरोप लगाया हो। इससे पहले भी वह गौहत्या और गोमांस जैसे मुद्दों पर भारत सरकार को आरोपों के कटघरे में खड़ा कर चुका है।

गौरतलब है कि अमेरिकी विदेश मंत्रालय द्वारा इंटरनेशनल रिलीजियस फ्रीडम इंडिया-2018 नाम से जारी रिपोर्ट में कहा गया कि आज भी भारत में धर्म और गोरक्षा के नाम पर हिंदू संगठनों द्वारा मुसलमानों और अल्पसंख्यकों पर सामूहिक हमला किया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जेयू मामले में प्रशासन पूरी तरह से फेल था – राज्यपाल

वीसी ने अपने कर्तव्य नहीं निभाये ‘जो भी किया संविधान के दायरे में किया’ जाने से पहले सीएम से कई बार हुई थी बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जादवपुर आगे पढ़ें »

राजीव को पकड़ने के लिए बंगाल से यूपी तक छापे

राजीव कहां हैं सीबीआई ने पूछा पत्नी से टारगेट पूरा करने के लिए बनाया गया स्पेशल कंट्रोल रूम सीबीआई का अनुमान - जगह बदल-बदल कर रह रहे हैं आगे पढ़ें »

ऊपर