मोबाईल चोरी रोकने के लिए सरकार उठाने जा रही है ये कदम

जयपुरः अगर आपको कहें कि अब आप अपनी चोरी हुई मोबाइल आसानी से पा सकेंगे तो आपको यकीन नहीं होगा। लेकिन यह सच है, सरकार अब मोबाइल चोरी रोकने के लिए नई तकनीक शुरू करने जा रही है। इस तकनीक की मदद से चोरी किये गए फोन से सिम कार्ड निकाल भी लिया गया हो, या फिर पहचान के लिए यूनिक कोड (आईएमईआई नंबर) बदल‌ दिया गया हो तो भी फोन ‌को ट्रेस किया जा सकेगा। यही नहीं, फोन के चोरी अथवा गुम होते ही सभी तरह के डेटा और सर्विस बंद हो जाएंगे। इससे फोन चोरी करने वाला इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएगा।
26 जुलाई तक तकनीक हो सकती है लांच
बता दें कि दूर संचार विभाग ने सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स के साथ मिलकर इस नई तकनीक को तैयार किया है। विभाग ने इसके लोकार्पण के लिए मंत्रालय से बात की थी लेकिन संसद सत्र के कारण इसे टाल ‌दिया गया। अब सत्र के समापन के बाद 26 जुलाई के इस तकनीक का लोकार्पण हो सकता है। एक अधिकारी के अनुसार, राष्ट्रीय दूरसंचार नीति 2012 के तहत मोबाइल चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए इस तकनीक को विकसित करने का काम हो रहा है
एक फोन पर ब्लाक होंगे मोबाइल
मोबाइल ट्रैकिंग प्रोजेक्ट के तहत जुलाई 2017 में इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर (सीईआईआर) शुरू किया गया। सीआईईआर के तहत सभी हैंडसेट निर्माता कंपनियों के द्वारा जारी होने वाला आईएमईआई नंबर और टे‌लिकॉम कंपनियों द्वारा दिए जाने वाले नेटवर्क अब एक ही मंच पर आ जाएंगे। यानि कि सीआईईआर अब सीधे मोबाइल फोन्स को नियंत्रित करेगी। अब जैसे ही फोन चोरी या गुम होगा। उपभोक्ता सीधे टेलिकॉम ऑपरेटर को अथवा दूरसंचार विभाग के द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर मोबाइल फोन को ब्लॉक करवा सकेगा
डाटा दूरसंचार विभाग से साझा करना होगा
दूरसंचार विभाग ने महाराष्ट्र में इस नई तकनीक का सफल परीक्षण कर लिया है। केंद्र सरकार ने इस साल बजट में इसके लिए 15 करोड़ रूपए भी आवंटित किए हैं। पुलिस या जांच एजेंसी को यह अधिकार होगा कि वह सीआईईआर के डाटा का इस्तेमाल फोन को ट्रेस करने में कर सकें। इस नए सिस्टम से कंपनियों को अपना डाटा दूरसंचार विभाग से साझा करना होगा। उन्हें नेटवर्क को इस तरह से अपडेट करना होगा कि सीआईईआर उसे एक्सेस कर सके। साथ ही कंपनियों को सिम कार्ड या फोन ब्लॉक करने का ‌अधिकार भी सीआईईआर से साझा करना होगा। इस नए सिस्टम के आने के बाद उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा करने में मदद मिलेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में अब तक 1 लाख के पार कोरोना संक्रमण के मामले, 73 हजार ठीक, 2 हजार की मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 2931 नये मामलों की पुष्टि आगे पढ़ें »

मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता और पार्टी से दिया इस्तीफा

इम्फाल : मणिपुर में कांग्रेस के छह विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और मंगलवार को पार्टी भी छोड़ दी। इन छह आगे पढ़ें »

ऊपर