महिलाओं में बढ़ रहा है वजायनल स्टिमिंग का चलन, नुकसान भी जान लीजिए

नई दिल्ली : आजकल महिलाओं में वजाइनल स्टीमिंग का ट्रेंड तेजी बढ़ रहा है। फीमेल प्राइवेट पार्ट को टाइट और यंग लुक के लिए महिलाएं वजाइनल स्टीमिंग का सहारा ले रही हैं। इसमें वजाइना को साफ करने के लिए स्टीम ली जाती है, इससे फीमेल प्राइवेट पार्ट हेल्दी भी रहता है। इस प्रोसेस को वी-स्टीमिंग या फिर योनी स्टीमिंग भी कहा जाता है।

हालांकि कुछ रिपोर्ट्स कहते हैं कि इस स्टीम की वजह से फीमेल प्राइवेट पार्ट को काफी नुकसान हो रहा है। हाल ही में कनाडा की एक महिला को इससे सेकंड डिग्री बर्न हो गया। वह महिला घर पर ही वजाइनल स्टीमिंग ले रही थी, जिससे उसे सेकंड डिग्री बर्न हो गया और उसके प्राइवेट पार्ट में फफोले पड़ गए।

हालांकि कुछ मेडिकल रिपोर्ट्स कहते हैं कि वजाइनल स्टीमिंग के कई फायदे भी हैं, जिनमें इन्फर्टिलिटी से लेकर पीरियड के दौरान होने वाली कई परेशानियाँ इससे दूर होती हैं, लेकिन इसे लेते वक्त सावधानी जरूरी है। इस प्रक्रिया को आजमाने से पहले गाइनैकॉलजिस्ट से सलाह ले लें, फीमेल प्राइवेट पार्ट बेहद सेंसिटिव जगह होती है और इससे जलने का खतरा हो सकता है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

पर्यावरण संरक्षण सरकार का कर्तव्य, ईआईए-2020 का मसौदा वापस लिया जाए: सोनिया

नयी दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए)-2020 की अधिसूचना के मसौदे को लेकर गुरुवार को सरकार पर पर्यावरण संरक्षण से आगे पढ़ें »

कोरोना के बाद बढ़ सकती हैं मानसिक बीमारियां

कोरोना संकट ने एक और समस्या को जन्म दिया है और यह समस्या मानसिक बीमारी के रूप में सामने आई है। कोरोना के इस दुष्प्रभाव आगे पढ़ें »

ऊपर