भोपाल पहुंचे पर जल समाधि नहीं ले सके बाबा वैराग्यानंद

भोपाल : लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की जीत का दावा करने वाले बाबा वैराग्यनंद गिरी महाराज रविवार को जल समाधि लेने पहुंचे लेकिन प्रशासन की अनुमति नहीं होने के कारण वे ऐसा नहीं कर सके। उनके भोपाल पहुंचने के बाद से ही राज्य की पुलिस उनके ऊपर लगातार पैनी नजर रख रही थी। मालूम हो कि दिग्विजय के चुनाव नहीं जीतने पर उन्होंने जल समाधि लेने की घोषणा की थी। आम चुनाव में सिंह को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने हरा दिया था।
जल समाधि लेने की अनुमति मांगी थी
बाबा ने अपनी घोषणा को लेकर 14 जून को जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर रविवार दोपहर 2.11 मिनट के महुर्त पर जल समाधि लेने की अनुमति मांगी थी। हालांकि, भोपाल के जिला कलेक्टर तरूण कुमार पिथोड़े ने इसकी अनुमति देने से इनकार कर दिया था। साथ ही पुलिस को बाबा के जानमाल की सुरक्षा करने को कहा। बाबा की घोषणा के मद्देनजर भोपाल के बड़ा तालाब पर शीतलदास की बगिया पर पुलिसकर्मी तैनात रहे। वहीं पुलिस ने उन्हें होटल से नहीं निकलने दिया जिसके कारण वे तय महुर्त पर जल समाधि लेने तालाब नहीं पहुंच सके।
फिर प्रशासन से जल समाधि की अनुमति मांगेंगे
बाबा वैराग्यनंद ने रविवार को भोपाल में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वे अपनी घोषणा के अनुसार जल समाधि लेना चाहते हैं लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी है। उन्होनें कहा कि वह एक दफा फिर प्रशासन से इसकी अनुमति मांगेंगे।
अनुमति देने का कोई प्रावधान ही नहीं
इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि बाबा को जल समाधि लेने नहीं दिया जा सकता। उन्होंने कहा कि इसकी इजाजत भी नहीं दी जायेगी क्योंकि इस प्रकार की अनुमति देने का कोई प्रावधान ही नहीं है। वहीं बाबा के वकील माजिद अली ने बताया कि गुवाहटी के कामाख्या मंदिर में तपस्या के बाद बाबा रविवार सुबह भोपाल हवाई अड्डे पर उतरे हैं। उन्होंने कहा कि इसके बाद से ही पुलिस लगातार उनकी निगरानी कर रही है।
निरंजनी अखाड़े ने बाबा को निष्कासित कर दिया
दरअसल, बाबा वैराग्यनंद ने दिग्विजय को जिताने के लिए यज्ञ करते समय ऐलान किया था कि यदि सिंह लोकसभा चुनाव में भोपाल सीट से चुनाव नहीं जीते तो वह (बाबा वैराग्यनंद) समाधि ले लेंगे। निरंजनी अखाड़े ने उन्हें इस घोषणा के बाद राजनीति करने के आरोप में अखाड़े से निष्कासित कर दिया था।

गौरतलब है कि इस साल हुए आम चुनाव में दिग्विजय सिंह को भाजपा की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने 3.64 लाख से अधिक मतों से बुरी तरह हराया था। सिंह के हारने के बाद से ही बाबा वैराग्यनंद की जल समाधि वाले बयान को लेकर काफी सवाल उठने लगे थे जिसके बाद वे अचानक गायब हो गए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

britain prime minster is son in law of India

सऊदी तेल प्रतिष्ठान पर हमले के लिए ईरान दोषीः ब्रिटेन

न्यूयार्कः ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि उनका देश इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि सऊदी अरब के तेल प्रतिष्ठानों पर हमले आगे पढ़ें »

Imran Khan's faded welcome in America

अमेरिका में इमरान खान का फीका स्वागत, सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक

इस्लामाबाद : अमेरिका पहुंचने पर एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हवाईअड्डे पर भव्य स्वागत किया गया। वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का स्वागत आगे पढ़ें »

ऊपर