प्रदूषण से ऐसे रखें अपने स्वास्थ का ख्याल

नई दिल्ली : प्रदुषण कि समस्या इन दिनों हर जगह है, इससे सांस बीमारी से लेकर त्वचा की बीमारी आम बात है। ऐसे हालात में जरूरी है कि हम स्वास्थ को लेकर जागरूक रहें। इस बारे में हार्ट केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉक्टर के के अग्रवाल का कहना है कि व्यायाम या योगाभ्यास इसमें काफी कारगर है। ऐसे समय में घर में ही योग करना लाभदायक होता है।

डॉ. अग्रवाल ने कहा कि जिन लोगों को सांस लेने में तकलीफ होती है, उन्हें प्राणायाम और अनुलोम-विलोम करना चाहिए। इस दौरान सुबह की सैर की बजाय शाम की सैर बेहद लाभदायक होती है।

प्रदुषण से राहत के लिए घरेलू उपचार :
– घी के 2-4 बूंद नाक में डालने से दूषित हवा साफ होकर फेफड़े में जाती है। दिन में दो बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।
– सीसा और मरकरी वायु प्रदूषण के एहम घटक माने जाते है। घी, सीसा और मरकरी के हानिकारक प्रभाव को कम करने में भी मदद करता है।
– संतुलित भोजन लें, जिसमें फल और सब्जी शामिल हों। प्रदूषण के दुष्प्रभावों से निपटने के लिए गर्म और घर में बना भोजन ही लें।
– गुड़ का सेवन भी हमारे शरीर से दूषित पदार्थों को दूर करने में मदद करेगा।
– लहसुन और प्याज का इस्तेमाल बढ़ाएं। प्याज और लहसुन पारंपरिक दवाओं के रूप में भी उपयोग किए जाते हैं। ये अस्थमा की रोकथाम और उपचार सहित विभिन्न स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।
– भाप की श्वास लें। इससे शरीर को हानिकारक पदार्थों को हटाने में मदद मिलती है। भाप लेने के दौरान पेपरमिंट तेल के 5-7 चम्मच लें और तोलिये की मदद से चेहरे को ढकें।
– तुलसी और अदरक की चाय लें। एक कप तुलसी और अदरक की चाय इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करती है और रेस्पिरेटरी सिस्टम से प्रदूषण की सफाई करने में भी उपयोगी होगी।
– किसी भी प्रकार के स्प्रे और रूम फ्रेशनर का उपयोग करने से बचना चाहिए, क्योंकि ये वायु प्रदूषण के घटक हैं। घर के अंदर पौधों का उपयोग करें जो हवा को शुद्ध करने में मदद करेंगे। बाहर जाना हो तो मास्क लगाना न भूलें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर