नियम उल्लंघन करने वाले नेताओं के ट्वीट की पहुंच को कम करेगा ट्विटर

वॉशिंगटन : नेताओं और अधिकारियों की गंदी और हिंसा को बढ़ावा देने वाले ट्वीट पर सोशल नेटवर्किंग साइट ट्वीटर से अपना रुख सख्त कर लिया है। कंपनी ने कहा ‌है कि यदि कोई नेता या अधिकारी अपने ट्वीटर हैंडल पर जनहित के विरुद्ध पोस्ट डालते हैं या कंपनी द्वारा तय किये गए नियमों का उल्लंघन करते हैं तो उनके ट्वीट की पहुंच को घटा दिया जायेगा।
ट्वीटर के हवाले से दी जानकारी
अमेरिका के एक अखबार ने गुरुवार को ट्विटर के हवाले से लिखा कि,’कंपनी उन नेताओं और सरकारी अधिकारियों के ट्वीट डाउन करेगी, जिनकी पोस्ट नियमों के खिलाफ होगी और उनमें जनहित से जुड़ी कोई बात शामिल नहीं होगी।’
एक लाख से ज्यादा फॉलोअर्स वाले होंगे प्रभावित
कंपनी ने अपने पिछले ब्लॉग में बताया था कि पहले हमने जनहित से जुड़े सभी ट्वीट्स को हरी झंडी दे रखी। इनमें नियमों पर खरे नहीं उतरने वाले ट्वीट भी शामिल थे, लेकिन कंपनी अब एक नई पॉलिसी लेकर साथ आई है। इस पॉलिसी के तहत उन नेताओं और ‌अधिकारियों पर असर पड़ेगा जिनके फॉलोअर्स की संख्या 1 लाख से अधिक है।
ट्विटर ने नई टीम का गठन किया
इस संबंध में ट्विटर का कहना है कि उसने गंदी और हिंसक सामग्री को लोगों तक पहुंचने से रोकने के लिये एक नई टीम का गठन किया है। उनकी टीम ऐसे ट्वीट्स की पहुंच को कम करेगी जिसमें हिंसक सामग्री या भद्दी भाषा का इस्तेमाल किया गया हो। कंपनी की यह नई पॉलिसी गंदे बयानों और अशब्दों पर लगाम लगाने के लिए विशेष तौर पर काम करेगी।
ट्रंप ने लगाया था पहुंच घटाने का आरोप
पिछले दिनों अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्विटर कंपनी पर उनके ट्वीट्स की पहुंच को घटाने का आरोप लगाया था। उन्‍होंने कहा था कि कंपनी ने गलत मंशा से उनके ट्वीट्स की पहुंच घटा दी है। हालांकि, ट्रंप या व्हाइट हाउस की ओर से इस संबंध में कोई सबूत पेश नहीं किया गया। वहीं अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को देखते हुए पिछले हफ्ते ट्विटर ने कहा था कि ”कंपनी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समेत अन्य प्रभावशाली नेताओं के ऐसे ट्वीट लागों तक पहुंचाती रहेगी जो जनता के हित से जुड़े होंगे।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

Om Birla

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा-न्यायसंगत, शांतिपूर्ण, समृद्ध विश्व के लिए सुस्थापित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था

बेलग्रेड : सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड में अंतर संसदीय संघ की 141वीं बैठक में भारतीय संसदीय शिष्टमंडल का नेतृत्व कर रहे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला आगे पढ़ें »

Pranjal Patil

देश की पहली नेत्रहीन महिला आईएएस अधिकारी ने संभाला नया पद

तिरुवनंतपुरम : भारत की पहली दृष्टि बाधित महिला आईएएस अधिकारी प्रांजल पाटिल ने तिरुवनंतपुरम में सहायक कलेक्टर के रुप में पदभार संभाला है। महाराष्ट्र के आगे पढ़ें »

ऊपर