दूध पीने के इन नियमों को जान लीजिये, नहीं तो फायदें की जगह होगा नुकसान

नई दिल्ली : दूध स्वास्थ के लिए काफी अच्छा होता है, इसमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है जो बढ़ते बच्चोंं के विकास के लिए अच्छा होता है। इससे एनर्जी मिलने के साथ ही विटामिन ए, के और बी-12 थाइमिन और मिनरल जैसे- फास्फो्रस, सोडियम और पोटैशियम पाए जाते है। बच्चोंत को ही नहीं, महिलाओं को भी अपनी डाइट में दूध को शामिल करना चाहिए। इससे महिलाओं के शरीर में भी कैल्शियम की कमी पूरी होती है। हालांकि दूध पीने के कुछ नियम होते हैं, अगर उसे नहीं अपनाया गया तो फायदे की जगह नुकसान हो सकता है।

लोग दूध पीते हुए कुछ गलतियां जैसे, खाने के तुरंत बाद दूध पीना, नॉनवेज के साथ दूध पीना की गलती करते हैं, जिससे दूध आपको फायदा पहुंचाने की बजाय नुकसान पहुंचाने लगता है। जानिए दूध पीने के कुछ नियम।

पहना नियम
खाने से कुछ देर पहले या कुछ देर बाद दूध पीने की आदत होती है। इस आदत को तुरंत छोड़ दें, क्योंीकि इससे पचने में समय लगता है और आपको भारीपन महसूस होगा। दूध के साथ कभी भी नमक का सेवन ना करें। इससे आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचाता है। दूध पीने के 1 घंटे पहले या दूध पीने के 1 घंटे बाद खट्टी या नमकीन चीजों का सेवन ना करें।

दूसरा नियम
प्याज और बैंगन के साथ कभी दूध का सेवन न करें। इनमें मौजूद केमिकल आपस में क्रिया करके त्वचा संबंधी रोग पैदा करते हैं। फिश या नॉनवेज के साथ दूध लेने से त्वचा पर सफेद धब्बे या ल्यूकोडर्मा की परेशानी हो सकती है। इसके अलावा इन दोनों में ही प्रोटीन होता है, जिससे इसे डाइजेस्टद करने में बहुत समय लगता है।

तीसरा नियम
अगर आप ताकत और ज्यांदा पोषण चाहती हैं तो आप गाय का दूध पीएं, लेकिन आप अपना वजन बढ़ाने के लिए दूध पीना चाहती हैं तो भैंस का दूध लें। हालांकि भैंस का दूध कफ बढ़ाता है। भैंस के दूध के मुकाबले गाय का दूध ज्याादा हेल्दी होता है। गाय के दूध में कैल्शियम, प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट्स के साथ-साथ विटमिन ई, सेलेनियम, जिंक आदि भी पर्याप्त मात्रा में होते हैं। ये तत्व हमारी बॉडी की इम्यूफनिटी को बढ़ाते हैं, जिससे बीमारियां नहीं होती। बच्चोंक के दिमाग के विकास के लिए उन्हेंत रेगुलर गाय का दूध पिलाना चाहिए।

चौथा नियम
रात को खाने के बाद दूध पीने की आदत हैं तो खाने और दूध पीने के दौरान कम से कम 1 घंटे का अंतर रखें और खाना थोड़ा कम ही खाएं, नहीं तो डाइजेशन संबंधी समस्याय होने लगती है। आपका पेट खराब हो सकता है। ठंडा दूध पीने से बचें और इसमें चीनी का इस्तेमाल ना करें। ठंडा दूध देर से पचता है, जिससे पेट में गैस बनती है। चीनी दूध के पोषक तत्वों को कम करती है और डाइजेशन में समस्या पैदा करती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर