तो इस धिनौने काम के लिए मुस्लिमों को मार रहा है चायना

बीजिंगः चीन में जेल की सलाखों के पीछे जो घिनौना काम हो रहा है उससे मानवता स्तब्‍ध है। मानव अंगों की मांग को पूरा करने के लिए चीन जेल में बंद कैदियों के शरीर का सहारा ले रहा है। यह बात एक स्वतंत्र ट्रिब्यूनल की रिपोर्ट में सामने आई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन अंगों के प्रत्यारोपण के लिए कैदियों की हत्या कर रहा है। इस काम के लिए वह उईगर मुस्लिमों सहित अन्य अल्पसंख्कों को शिकार बना रहा है। लंदन स्थित चाइना ट्रिब्यूनल की रिपोर्ट में मुख्य रूप से उनलोगों को शिकार बनाए जाने की बात कही है जो फालुन गोंग आंदोलन से जुड़े रहे हैं।

शरीर से अंगों को निकाल लिया जाता है

ट्रिब्यूनल की रिपोर्ट बताती है कि चीन में मानव अंगों के प्रत्यारोपण का गोरखधंधा चलाया जा रहा है। ताज्जुब की बात तो यह है कि इस गोरखधंधे को रोकने ने लिए ना तो कोई आवाज उठा रहा है और ना ही इसका विरोध किया जा रहा है। ‌रिपोर्ट के अनुसार अमीरों की आवश्यकता पूरी करने के लिए कैदियों को बेमौत मारकर उनके शरीर से अंगों को निकाल लिया जाता है और किसी को कानोंकान इसकी भनक तक नहीं लगती। इस धंधे को उजागर करने वाले चाहते हैं कि इस क्रूरता को खिलाफ एकजुटता से चीन पर दबाव डाला जाए।

जरूरत के हिसाब से होती है कैदियों के अंगों की बुकिंग

नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित अन्वेषक पत्रकार एथन गटमैन ने इस संबंध में बेहद चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। गटमैन का कहना है कि जेल में अधिकतर ऐसे कैदियों को मारा जाता है जो आध्यात्म से जुड़े हुए होते हैं। उन्होंने कहा कि वे मानते हैं ऐसे कैदियों के अंग ज्यादा स्वस्‍थ होंगे और उनको अच्छे दामों में बेचा जा सकेगा। इस काम में सबसे ज्यादा शांतिपूर्ण बुद्ध सिद्धांतों पर अभ्यास करने वाले फालुन गोंग आन्दोलन से जुड़े लोगों को चुुना जाता है। कैदियों को मारकर उनके अंगों को निकालने से पहले उनके महत्वपूर्ण आंकड़े दर्ज कर लिए जाते हैं जैसे ब्लड ग्रुप, वर्तमान में अंगों की दशा आदि। उनका कहना है कि अमीरों की जरूरत के हिसाब से कैदियों के अंगों की बुकिंग भी होती है।

अज्ञात और अनाम कैदी बनते हैं शिकार

चीन में अंगों के लिए मारे जाने वाले कैदियों में सबसे पहले उन्हेें निशाने पर रखा जाता है जिनका कोई रिकॉर्ड ना हो। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि उन्हें मारने के बाद उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। रिपोर्ट में सामने आया है कि अज्ञात और अनाम कैदी सबसे पहले चीनी क्रूरता का शिकार होते हैं। कई फालुन गोंग अभ्यासी तो इस डर से अब पहचान भी छिपाने लगें हैं कि इस घिनौनी साजिश का अगला शिकार उनको ही ना बनना पड़े।

बता दें अंग प्रत्यारोपण के संबंध में चीन का कहना है कि देश में ऐसे मामलों पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। लेकिन चाइना ट्रिब्यूनल के अध्यक्ष की मानें तो फिलहाल इसके कोई सबूत नहीं मिले कि कैदियों से जबरन अंग निकाला जाना बंद हो गया है। उनका कहना है कि इस बात पर कोई शक नहीं है कि ये अभी भी जारी है।

मुख्य समाचार

भारतीय रेल वित्त निगम में हिस्सेदारी बेचकर आईपीओ से 1000 करोड़ रुपये जुटाएगी सरकार

नई दिल्ली : सरकार आईपीओ के जरिए भारतीय रेल वित्त निगम (आईआरएफसी) में 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 1,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही आगे पढ़ें »

Measles' per hour in the world leads to the death of ten children

विश्व में प्रति घंटे ‘खसरे’ से होती है दस बच्चों की मौत

उदयपुर : विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से पूरे विश्व में तेजी से फैलने वाली बीमारियों की सूची निकाली गई। जिसमें उन्होंने बताया कि आगे पढ़ें »

12 criminals in Patna threw a young man with bullets, death

पटना में 12 अपराधियों ने दिनदहाड़े युवक को गोलियों से भूना, मौत

पटनाः बिहार में प्रशासन सुरक्षा व्यवस्‍था के टाइट होने का दावा करता है। लेकिन अपराधी उन दावों की हवा निकालने में लगे रहते हैं। इसी आगे पढ़ें »

The country has changed, good days have come: JP Nadda

देश बदल गया, अच्छे दिन आ गए : जेपी नड्डा

मुंबईः भाजपा के ​कार्यवाहक अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। जिसमें उन्होंने कहा कि देश आगे पढ़ें »

Yogi from family of victims of Sonbhadra massacre

सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों के परिवार वालों से मिले योगी

सोनभद्र : सोनभद्र हत्याकांड के पांच दिन बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को मृतकों और घायलों के परिजनों से मुलाकात की। आगे पढ़ें »

'Fair Expo' to be held in Lucknow

लखनऊ में लगेगा हथियारों का सबसे मेला ‘डिफेंस एक्‍सपो’

लखनऊ : नवाबों के शहर लखनऊ में हथियारों का सबसे बड़ा मेला लगने वाला है। अगले साल 5 से 8 फरवरी के बीच 11वां डिफेंस आगे पढ़ें »

High profile body racket busted

हाई प्रोफाइल देह व्यापार के रैकेट का हुआ पर्दाफाश

भोजपुर : राजधानी में हाई प्रोफाइल देह व्यापार के रैकेट का बड़ा खुलासा हुआ है। कम पैसों के खातिर रैकेट के चंगुल से भागी दो आगे पढ़ें »

tejpratap meets lalu in rimps hospital

रांची के रिम्स में लालू से मिले तेजप्रताप

पटना : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव शनिवार को अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने रांची के रिम्स पहुंचे थे। यहां उन्होंने लालू से मिलने के आगे पढ़ें »

Gang rape gangrape expose women going to temple

मंदिर जाने वाली महिलाओं को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

मुंगेर : मंदिर में पूजा करने जाने वाली महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसका वीडियो बनाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। घटना तारापुर आगे पढ़ें »

Fagu Chauhan appointed new Governor of Bihar

फागू चौहान बिहार के नये राज्यपाल नियुक्त

पटना : बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन की जगह फागू चौहान को नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है। उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायक रहे फागू आगे पढ़ें »

ऊपर