टेेरर फंडिंग रोके पाक नहीं तो भुगतनी होगी सजा – एफएटीएफ

Pakistan scared by the removal of Article 370, Imran convened high level meeting

वाशिंगटन : आतंकवादियों के वित्तपोषण (टेरर फंडिंग) की निगरानी के लिए गठित अंतरसरकारी संगठन (एफएटीएफ) ने शुक्रवार को अमे‌रिका के फ्लोरिडा में हुई बैठक के बाद पाकिस्तान को चेतावनी दी है। एफएटीएफ ने कहा है कि यदि पाक ने आतंकवाद को आर्थिक सहायता देना बंद नहीं किया ताे उसे काली सूची (ब्लैकलिस्ट) में डाल दिया जायेगा। टेरर फंडिंग पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए उसे अक्टूबर तक का समय दिया गया है। टेरर फंडिंग करने के आरोप में पाक को पहले ही संदेहास्पद देशों की सूची (ग्रे लिस्ट) में रखा गया है।
टेरर फंडिंग पर रोक लगाने में विफल रहा
एफएटीएफ का कहना है कि पाकिस्तान टेरर फंडिंग पर रोक लगाने के लिए जनवरी तक दी गई समय सीमा में कार्यवाई योजना को लागू नही कर सका साथ ही मई 2019 तक भी वह ऐसा करने में पूरी तरह विफल रहा है। इसलिए संस्था ने उसे अंतिम चेतावनी के साथ इस वर्ष अक्टूबर तक का समय दिया है।
कार्रवाई योजना को लागू करने का प्रयास कर रहा है

वहीं एफएटीएफ का बयान सामने आने के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि वह संस्‍था के हर निर्देश का पालन करने के लिए तैयार है। उसने यह भी कहा है कि वह ग्रे लिस्ट से बाहर आने का प्रयास कर रहा है। उसने यह भी कहा है कि अपनी तरफ से वह कार्रवाई योजना को लागू करने का पूरा प्रयास कर रहा है। लेेकिन पाक के जवाब से एफएटीएफ ने असंतुष्टि जाहिर करते हुए कहा है कि उसके प्रयास से स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही है। साथ ही कहा है वह अक्टूबर में पाक द्वारा किए गए प्रयासों की समीक्षा करेगा।

ठोस एवं विश्वसनीय कदम उठायेगा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस मुद्दे को लेकर संवाददाताओं से कहा कि एफएटीएफ ने फैसला किया है कि पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में बरकरार रखा जाए और उसे जनवरी और मई 2019 के लिए दी गयी कार्ययोजना के बिन्दुओं को पूरा करने के लिए निगरानी में रखा जाये। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत को उम्मीद है कि पाकिस्तान एफएटीएफ की कार्ययोजना को तय समयसीमा के भीतर प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करेगा और उसके नियंत्रण वाली ज़मीन से पनपने वाले आतंकवाद एवं आतंकवाद के वित्त पोषण से जुड़ी वैश्विक चिंताओं के समाधान के लिए विश्वसनीय, ठोस, अपरिवर्तनीय एवं साक्ष्यजनक कदम उठायेगा।

बता दें कि काले धन को सफेद करने एवं टेरर फंडिग की निगरानी के लिए गठित अंतरसरकारी संगठन एफएटीएफ की शुक्रवार को अमेरिका के फ्लॉरिडा में हुई बैठक में पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के लिए सितंबर 2019 तक की अंतिम समयसीमा तय की गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर