जनरल रावत ने कहा- बालाकोट हमला भारत पर आतंकी हमला रोकने के लिए था

एझिमला (केरल): थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने हवाई हमले को इसलिए अंजाम दिया था ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सीमा पार प्रशिक्षित किए जा रहे आतंकवादी भारत के खिलाफ कोई कदम उठाने के लिए बचें ही नहीं। उन्होंने कहा कि सीमा पार आतंकवाद से निपटने के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं।

आतंकवादियों की धनराशि बिल्कुल खत्म हो जाए

कश्मीर में आतंकवाद के मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में जनरल रावत ने कहा, ‘‘विभिन्न सरकारी एजेंसियों के समन्वित प्रयासों के जरिए अब एनआईए ने दखल दिया है, प्रवर्तन निदेशालय ने दखल दिया है और सभी यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि आतंकवादियों को उपलब्ध वित्तपोषण और धनराशि बिल्कुल खत्म कर दी जाए।’’ उन्होंने यह भी कहा कि वहां हालात काबू में कर लिया गया है। रावत ने कहा कि देश आजादी के बाद से ही आतंकवाद का सामना कर रहा है और सुरक्षाबल एवं उनका समर्थन कर रही सभी एजेंसियां इस चुनौती का डटकर मुकाबला कर रही हैं। उन्होंने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करने में सफल रहे हैं कि आतंकवाद पर काबू पाया जाए। निश्चित तौर पर, कश्मीर घाटी में हम आतंकवाद में उतार-चढ़ाव देखते रहे हैं।’ ‘ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उन्हें हमारे पश्चिमी पड़ोसी से समर्थन मिलता है। वहीं, कई लोग आतंकवादियों की ओर से चलाए जा रहे दुष्प्रचार अभियान के कारण भी भटक जाते हैं। लेकिन हमने हालात को काबू में किया है।’
शेयर करें

मुख्य समाचार

sjayshanker

‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने नेपाल जाएंगे विदेश मंत्री

काठमांडू : विदेश मंत्री एस जयशंकर ‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने इस सप्ताह नेपाल जाएंगे। इस बैठक में जयशंकर द्विपक्षीय संबंधों आगे पढ़ें »

dhule

महाराष्ट्र : बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर में 15 की मौत ,कई घायल

धुले : महाराष्ट्र के धुले में एक दर्दनाक हादसा होने का मामला सामने आया है। यहां एक बस और ट्रक के बीच हुए भीषण टक्कर आगे पढ़ें »

ऊपर