जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

zakir

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार ने पहले उन्हें नस्लीय राजनीति में भाग लेने की इजाजत नहीं दी थी और अब यह कदम उठाया गया है। इसके साथ ही नाइक के विवादित उपदेशों पर पाबन्दी लगाने वाला मेलाका मलेशिया का सातवां राज्य बन गया। मेलाका के मुख्यमंत्री अदली जहरी ने रविवार को कहा कि जाकिर नाइक पर राज्य में किसी भी तरह की धार्मिक बातचीत करने पर पाबन्दी लगा दी गयी है। उन्होंने यह भी कहा कि “हम इस मुद्दे से बचना चाहते हैं क्योंकि यह हमारे रिश्तों पर असर डाल सकता है। हम बेहतर रिश्ते बनाये रखना चाहते हैं, इसलिए हमने ज़ाकिर के किसी भी तरह के धार्मिक बातचीत या उपदेश पर पाबंदी लगा दी है।”

नाइक के भाषण पर इन राज्यों ने लगाई थी पाबंदी

नाइक के सार्वजनिक रूप से धार्मिक उपदेशों पर मेलाका के अलावा 6 अन्य राज्यों जोहोर, सेलंगोर, पेनांग, केदाह, पर्लिस और सरवाक ने पाबंदी लगा रखी है। इस क्रम में मेलका 7वां राज्य है। केदाह, पेनांग और जोहोर राज्य ने सबसे पहले जाकिर के धार्मिक उपदेशों पर रोक लगाई थी।

मलेशियाई प्रधानमंत्री ने नाइक को दी ये चेतावनी

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने 16 अगस्त को जाकिर नाइक को चेतावनी देते हुए कहा था कि ‘ यदि सरकारी जांच में नाइक के उपदेशों में देश में धार्मिक नफरत जैसा कुछ पाया गया तो उनके स्थायी निवासी दर्जे को खत्म कर दिया जाएगा। मालूम हो कि नाइक को वर्ष 2015 में स्थायी निवासी का दर्जा मिला था।

भारत सरकार ने भी किया भगोड़ा घोषित

मालूम हो कि भारत सरकार ने जाकिर नाइक को आपराधिक भगोड़ा घोषित कर दिया था जिसके बाद उसने मलेशिया में जाकर शरण लिया। नाइक पर काले धन को वैध बनाने का आरोप है। बता दें कि पिछले वर्ष मलेशिया के अधिकारियों ने भारत के अनुरोध के बावजूद नाइक के प्रत्यर्पण से इन्कार कर दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

जार्ज फ्लायड की मौत पर आईसीसी ने कहा, विविधता के बिना क्रिकेट कुछ नहीं

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को कहा कि ‘क्रिकेट विविधता के बिना कुछ भी नहीं है।’ उसने यह बयान अफ्रीकी मूल के आगे पढ़ें »

टेस्ट मैच में लागू होगा कोरोना सब्स्टीट्यूट, जल्द मिलेगी आईसीसी की मंजूरी

विश्व पर्यावरण दिवस विशेष : तीन दशक से पर्यावरण-जंगल की रक्षा कर रहे रामगढ़ के वीरू महतो

स्थिति ठीक होने पर ही टूर्नामेंट्स हो, आज यूएस ओपन होता है तो मैं नहीं खेलूंगा : नडाल

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

ऊपर