युवाओं को कोविड के बाद हो रही है हार्ट की समस्या

कोलकाता : कोविड से पहले, हृदय संबंधी बीमारियां ज्यादातर 50 वर्ष की आयु के लोगों में होती थीं लेकिन अब यह देखा गया है कि 30 की उम्र में भी युवाओं को हार्ट से जुड़ी बीमारियाँ हो रही हैं। फोर्टिस अस्पताल, कोलकाता में कार्डियोलॉजी और इंटरवेंशन विभाग के निदेशक डॉ. सुवनन रे ने युवा पीढ़ी में हृदय संबंधी रोगों में वृद्धि देखी है। डॉ. सुवनन ने इन मामलों के साथ-साथ हृदय संबंधी बीमारियों, निदान, उपचार के कारणों के बारे में विस्तार से सन्मार्ग को बताया है।
कोविड के बाद स्थिति डरावनी
डॉ. रे ने बताया कि दूसरी और तीसरी लहर के दौरान अस्पताल आने वाले हृदय रोगियों में से लगभग 50 प्रतिशत 30 से 40 वर्ष की आयु के थे। तथ्य यह है कि हृदय संबंधी समस्याएं किसी भी आयु वर्ग तक सीमित नहीं हैं बल्कि युवाओं में तेजी से रिपोर्ट की जा रही है। एक 37 वर्षीय पुरुष रोगी का उदाहरण देते हुए, जो हाल ही में अस्पताल आया था, डॉ. रे ने कहा, “रोगी को भर्ती होने के दिन पसीने के साथ-साथ उसके बाएं हिस्से में सीने में दर्द की अचानक शुरुआत का अनुभव हुआ था। उन्हें एंटी-प्लेटलेट्स की एक खुराक मिली। इसके बाद वह फोर्टिस अस्पताल आया, जहां हमने पाया कि उसे हृदय रोग है। उसी के इलाज के लिए, डॉ रे ने कोरोनरी धमनी स्टेनोसिस के स्टेंटिंग के साथ एक एंजियोप्लास्टी का सुझाव दिया। रोगी का सफल ऑपरेशन हुआ और उचित दवा के साथ स्थिर स्थिति में उसे छुट्टी दे दी गई।
हार्ट अटैक के सिम्प्टम्स जानना जरूरी
रोगियों के मेडिकल रिकॉर्ड से पता चला है कि दिल का दौरा पड़ने से पहले वे पिछले 3-6 महीनों में पहले कोविड से प्रभावित हुए थे। लगभग 50 वर्ष की आयु के लोग ज्यादातर दैनिक दवाएं जैसे स्टैटिन, एंटी-हाइपरटेन्सिव, एस्पिरिन आदि लेते हैं जो उन्हें तीव्र कोरोनरी धमनी रोग से बचा सकती हैं। हालांकि 30 वर्ष की आयु के लोग आमतौर पर किसी भी निवारक दवाओं का सेवन नहीं करते हैं और इसलिए हृदय संबंधी समस्याओं की चपेट में आ जाते हैं। इस तरह की घटना के पीछे मूल कारण यह है कि कोरोनरी धमनी के टूटने में प्लग एक थ्रोम्बस बना सकते हैं जो कार्डियक अरेस्ट के जोखिम को उत्प्रेरित करता है। डॉ. रे आगे सुझाव देते हैं कि जो लोग कोविड से संक्रमित हुए हैं, उनके ठीक होने के बाद उनका हृदय मूल्यांकन कर लेना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

माओवादियों के नाम पर आतंक फैलाने के आरोप में एक होमगार्ड समेत 6 गिरफ्तार

झाड़ग्राम: माओवादियों के नाम से लोगों को पत्र लिख व फोन कर धमकी देने व उगाही करने के आरोप में पुलिस ने एक होमगार्ड समेत आगे पढ़ें »

ऊपर