आपकी पीरियड भी हो गई है अनियमित तो अपनाइए यह उपाय

नई दिल्ली : अनियमित जीवनशैली, खानपान में कमी और कई बार हार्मोनल समस्याओं के कारण महिलाओं में अनियमित पीरियड्स एक आम समस्या है। जब 13-14 साल में पहली बार पीरियड्स आना शुरु होते हैं और तब वे आमतौर पर नियमित नहीं होते हैं, लेकिन 1 या 2 वर्ष बाद भी पीरियड्स नियमित ना हों तब इसे लेकर लापरवाह होना ठीक नहीं। भविष्य में यह बड़ी समस्या बन सकता है। चिकित्सा शास्त्र में माहवारी में अनियमितता को ‘ओलिगोमेनोर्रही’ कहते हैं।

डॉक्टर्स बताते हैं कि अगर आपके पीरियड्स अनियमित हैं तो इसकी कई वजह हो सकती हैं— जैसे एनीमिया, थाइरोइड, हार्मोनल असंतुलन, लिवर की समस्या, डायबिटीज़, एक्सरसाइज को अचानक बढ़ा दिया हो, धूम्रपान, अल्कोहल, कैफीन को ज्यादा मात्रा में लेना, चिंता करना और गर्भ निरोधक पिल्स लेना।

पीरियड्स के शुरुआती दिनों में इसमें अनियमितता हो सकती है, लेकिन कुछ सालों बाद यह अपने आप ही नियमित हो जाते हैं, लेकिन अगर आपके पीरियड्स अभी तक अनियमित हैं तो नियमित पीरियड के लिए आप कुछ घरेलू आसान उपाय अपना सकती हैं —

1. अदरक
अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के लिए अदरक बेहद लाभकारी होता है और इससे पीरियड्स के दौरान होने वाला दर्द भी कम हो जाता है। हालांकि इसका कोई साइंटिफिक कारण नहीं है, लेकिन कुछ अध्ययनों के मुताबिक महिलाओं में पीरियड्स के दौरान खून की कमी को यह पूरा करता है। आधा चम्मच अदरक को पीस लें और 1 कप पानी में सात मिनट तक उबालें। अब इसमें थोड़ी शक्कर डालें और खाना खाने के बाद इसे दिन में 3 बार पिएं। ऐसा कम से कम 1 महीने तक करें।

2. सिनेमोन (दालचीनी )
वर्ष 2014 में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक सिनेमोन पीरियड्स सायकल को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह मासिक धर्म में दर्द को कम करता है और पीरियड्स के दौरान होने वाले खून की कमी को भी पूरी करता है। साथ ही प्राथमिक डिसमोनोरिया से जुड़ी समस्याओं जैसे जी घबराने और उल्टी में भी राहत देता है।

3. हल्दी
हल्दी शरीर में गर्मी पैदा करती है और हार्मोंस को नियंत्रित करने के साथ माहवारी नियमित करने में सहायता करती है। इसमें एंटीस्पास्मोडिक और एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो माहवारी के दर्द को कम करते हैं। एक चौथाई हल्दी को दूध, शहद या गुड़ के साथ ले।

4. सौंफ
सौंफ में एंटीस्पास्मोडिक तत्व पाये जाते हैं जो पीरियड्स को नियमित रखने में सहायक होते हैं। इसके साथ ही यह फीमेल सेक्स हार्मोंस को भी नियंत्रित रखती हैं। रोजाना खाने से अनियमित पीरियड्स नियमित हो जाता है। इसे इश्तेमाल करने के लिए 2 टी-स्पून सौंफ लें। 1 गिलास पानी में सौंफ डाल कर रातभर भिगो दें। अगली सुबह पानी को छानकर पिएं।

5. अनानास
यह अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के लिए लोकप्रिय घरेलू नुस्खा है। इसमें ब्रोमेलेन एंजाइम होता है, जो गर्भाशय की परत को नरम बनाने और पीरियडसायकल को नियमित करने में मदद करता है। ब्रोमेलेन पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द, ऐंठन, सिरदर्द जैसी समस्याओं को दूर करता।

6.अंगूर

अंगूर सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसका एक गिलास जूस पीने से मासिक धर्म में होने बाली गड़बड़ी ठीक हो जाती है। पीरियड्स से संबंधित किसी भी परेशानी के लिए अंगूर फायदेमंद है।

7. कच्चा पपीता
समय पर पीरियड्स नहीं आते तो कच्चे पपीते का सेवन करें। इसमें पाए जाने वाले एंटी- प्रोवोग, आयरन, कैल्शियम और विटामिन ए और सी पीरियड्स से जुड़ी सारी दिक्कतों को दूर करता है। पीरियड्स आने से पहले पपीता दही लें।

8. गाजर का जूस
गाजर आयरन से भरपूर होता है। अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के लिए इसके जूस का सेवन लाभदायक है। अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के लिए रोजाना एक गिलास गाजर का जूस पिएं।

9. विटामिन डी
विटामिन डी के कई स्वास्थ लाभ हैं, यह कुछ बीमारियों के जोखिम को कम करने, वजन कम करने के साथ ही अवसाद को भी कम करता है। दूध, डेयरी उत्पाद, अनाज के अलावा कुछ खाद्य पदार्थों में विटामिन डी पाया जाता है। सूर्य की रौशनी में भी विटामिन डी होता है। विटामिन डी की कमी से महिलाओं का मासिक अनियमित हो सकता है। रोजाना विटामिन डी लेकर मासिक धर्म चक्र को नियंत्रित किया जा सकता है।

10.बादाम
पीरियड्स संबंधी किसी भी समस्या को दूर करने के लिए बादाम और छुआरे लाभदायक है। रात को 2 छुआरे और 4 बादाम को पानी में भिगो कर रख दें। सुबह इनमें थोड़ी सी मिश्री मिलाकर पीस लें। इसको मक्खन के साथ खाएं। इनको खाने से मासिक धर्म से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाएंगी।

11. हरी पत्तेदार सब्जियां
हरी पत्तेदार सब्जियां मिनरल्स से भरपूर होती हैं। इसे नियमित तौर पर लेने से पीरियड्स संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

12. पुदीना(पेपरमिंट)
सूखे पुदीने और शहद का मिश्रण अनियमित पीरियड्स को नियमित करने के लिए एक आयुर्वेदिक उपाय है। 1 चम्मच सूखे पुदीने के पाउडर को 1 चम्मच शहद में मिला कर लें।

13.एलोवेरा
एलोवीरा भी पीरियड्स की समस्याओं को दूर करने में सहायक है। रोजाना सुबह उठकर 50 ग्राम एलोवेरा जूस 1 गिलास पानी में डालकर पिएं। रात में भी इसी तरह फिर से इसका सेवन करें। इसे खाने से 1 घंटे पहले या बाद में कुछ न खाएं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

लिफ्ट आने से पहले कोलेप्श‌िबल गेट खोला, नीचे गिरने से हुई मौत

बार में 10 लार्ज पेग ह्वीस्की पीया था मृतक ने कोलकाता : शराब के नशे में लिफ्ट के ऊपर आने से पहले ही कोलेप्श‌िबल गेट खोलने आगे पढ़ें »

ऊपर