सुहागरात पर दूल्हे के सामने आई दुल्हन की सच्चाई, जानकर आप भी हो जाओगे हैरान

बिहार : बिहार के गोपालगंज जिले में शादी में ठगी का एक मामला सामने आया है। जिसे सुनने के बाद हर कोई हैरत में पड़ गया है। एक युवक को शादी के बाद सुहागरात के पल इस बात की जानकारी हुई, उसने जिस युवती के साथ शादी के सात फेरे लिये हैं, वो पत्नी यानी ‘औरत’ न होकर ‘किन्नर’ निकली।
इस बात का खुलासा होते ही युवक के घर बसाने का सपना पलभर में चकनाचूर हो गया। युवक ने कलेजे पर पत्थर रखकर किसी तरह से रात तो काट ली, लेकिन सुबह होते ही उसने परिजनों के सामने बवाल काट दिया। युवक ने अपने घरवालों को बताया कि जिसे वो अपने घर की बहू बनाकर लाये हैं, दरअसल वो औरत है ही नहीं। इस बात को सुनकर लड़के के घरवाले भी चौंके, तब लड़के ने खुलासा किया उसकगी पत्नी औरत न होकर एक किन्नर है।
युवक की बात सुनकर तो परिजनों के पैरों तले से जमीन ही खिसक गई। फिर दूल्हा पक्ष के लोगो ने कोर्ट में मुकदमा दाखिल करके अपने लिए इंसाफ की मांग की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बरौली थाना के रुपनछाप गांव के रहने वाले अरुणेश कुमार की शादी सिधवलिया के एक गांव में हुई थी।
पूरे रस्मों रिवाज के साथ तिलक समारोह हुआ। इसके बाद अरुणेश शादी करने के लिए लड़की के घर पर बरात लेकर पहुंचा। वहां उसने अग्नि के सात फेरे लेकर युवती के साथ जीवन भर साथ निभाने की कसमें खाई।
मायकों वालों ने शादी के बाद अरुणेश के साथ दूल्हन को विदा कर दिया, वहीं बड़े अरमानों से अरुणेश जब सुहागरात के समय कमरे में पहुंचा तो उसे पता चला कि दूल्हन औरत नहीं बल्कि एक किन्नर है।
मामले की जानकारी मिलते ही अरुणेश के तो तोते ही उड़ गये। युवक के परिजनों ने मामले की जानकारी युवती के पिता को दी। उसके बाद युवती के के घर वाले अरुणेश के घर हथियारों से लैस होकर पहुंच गये और अपनी बेटी के साथ दहेज में दिये लाखों के जेवर, गिफ्ट वगैरह सबकुछ उठाकर चले गये।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शिक्षक नियुक्ति में दुर्नीति को लेकर राज्य भर में विपक्ष का प्रदर्शन

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शिक्षक नियुक्ति में दुर्नीति के विरोध में राज्य भर में माकपा की ओर से विक्षोभ दिखाया गया। इसके अलावा एकाधिक वाम छात्र आगे पढ़ें »

ऊपर