गंभीर बीमारियों और शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने के लिए इस दिन करें मां का पूजन

कोलकाता : दस महाविद्याओं में से एक मां बगलामुखी को आठवीं महाविद्या माना जाता है l ये माता का बहुत सशक्त रूप माना गया है l इन्हें पीतांबरा माता के नाम से भी जाना जाता है l मान्यता है कि इनकी पूजा करने से मुकदमों में फंसे लोगों को जीत हासिल होती है, जमीनी विवाद सुलझ जाते हैं, गंभीर बीमारियों से मुक्ति मिलती है और शत्रुओं का नाश होता है l हर साल वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मां बगलामुखी जयंती के रूप में मनाया जाता है l इस बार बगलामुखी जयंती गुरुवार 20 मई को पड़ रही है l शुभ मुहूर्त
बगलामुखी जयंती तिथि : 20 मई 2021

पूजा का शुभ समय : सुबह 11 बजकर 50 मिनट से दोपहर 12 बजकर 45 मिनट तक.

पूजा की कुल अवधि : 55 मिनट.

पूजा विधि
बगलामुखी जयंती के दिन स्नानादि से निवृत्त होकर पीले रंग के वस्त्र पहनें क्योंकि माता को पीला रंग अति प्रिय है l संभव हो तो उनके लिए घर पर ही पीले रंग का प्रसाद जैसे बेसन का हलवा, बेसन या बूंदी के लड्डू आदि तैयार करें l इसके बाद एक चौकी पर मां मां बगलामुखी की तस्वीर इस तरह स्थापित करें कि पूजा करते समय आपका मुंह पूर्व दिशा की तरफ हो l पूजा के दौरान मां को पीले रंग से रंगे अक्षत, पीला चंदन, पीले पुष्प, पीले फल, पीले वस्त्र आदि अर्पित करें l धूप-दीप, दक्षिणा और नैवेद्य चढ़ाएं l इसके बाद मां बगलामुखी की चालीसा पढ़ें और मंत्र जाप करें l इसके बाद आरती करें और माता के समक्ष अपनी मनोकामना पूर्ति की प्रार्थना करें और उनसे भूल चूक की क्षमा याचना करें l

शेयर करें

मुख्य समाचार

अलीपुर चिड़ियाखाना के भीतर बनेगा मिनी अस्पताल : वनमंत्री

कोलकाता : सोमवार को अलीपुर चिड़ियाखाना परिदर्शन के लिए राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक वहां पहुंचे। उन्होंने चिड़ियाखाना के भीतर ही एक जमीन को आगे पढ़ें »

हर लड़ाई में जीत हासिल करके ही रहते हैं ये चार राशि वाले

नई दिल्ली : कुछ लोग होते हैं जो बहस करने में विश्वास नहीं करते। जब तक मुमकिन होता है ये लोग बहस के मुद्दों को आगे पढ़ें »

ऊपर