…ऐसे करे रविवार के दिन सूर्य देव की पूजा; सभी कार्य होंगे सफल

कोलकाता: ग्रहों के राजा सूर्य देव को रविवार का दिन समर्पित है। इस दिन विधि-विधान से सूर्य देव की पूजा-अर्चना और उपासना करने से व्यक्ति के मान-सम्मान में वृद्धि होती है। करियर में खूब सफलता पाता है और नौकरी में प्रमोशन मिलता है। हिंदू धर्म में सूर्य देव एक मात्र ऐसे देवता तो भक्तों को नियमित रूप से साक्षात दर्शन देते हैं। सूर्य देव की नियमित पूजा करने से जीवन में शांति और खुशहाली आती है।

ग्रंथों में सूर्य देव को जीवन, सेहत और शक्ति के देवता के तौर पर जाना जाता है। इसलिए सुबह स्नान के बाद रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करने से और रोज सूर्य नमस्कार करने से जीवन में बड़े बदलाव आते हैं। रविवार के दिन सूर्य देव की पूजा के बाद उनकी आरती करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और सम्मान बढ़ता है।

क्या है सूर्यदेव की पूजा का महत्व
ऐसी मान्यता है कि रविवार के दिन भगवान सूर्य देव की पूजा करने से व्यक्ति का भाग्योदय होता है। सूर्य देव की उपासना के लिए सुबह स्नान करके भगवान सूर्य देव को जल अर्पित करें तथा उनकी पूजा करें। उन्हें धूप, दीप, पुष्प चढ़ाकर पूजा करें और फिर उनकी आरती उतारें। ऐसी मान्यता है कि सूर्य देव के प्रसन्न होने से सभी अशुभ कार्य शुभ कार्यों में परिवर्तित हो जाते हैं।

Visited 288 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Wednesday Mantra : हर संकट से बचाता है बुधवार का यह उपाय, दूर होता है गृह कलेश

कोलकाता : सनातन धर्म में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है और इस दिन विधि-विधान के साथ गणेश जी की अराधना की जाए आगे पढ़ें »

Sankashti Chaturthi 2024 Date: द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें महत्‍व, पूजाविधि और …

कोलकाता : द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फाल्‍गुन मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को कहते हैं। द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी 28 फरवरी को यानी आज है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर