दूसरों से अपनी तुलना कर रहते हैं परेशान? जानें, इस आदत को बदलने का तरीका

कोलकाता : ज्यादातर लोगों में एक आदत कॉमन है और वो है अपने आप को दूसरों से कंपेयर करने यानी तुलना करने की। कोई अपने आप को कम आंकता है तो कोई दूसरे की खुशियों से जलता है। हर व्यक्ति एक-दूसरे से अलग होता है तो क्यों हम दूसरे से तुलना कर परेशान होते हैं? दूसरों से तुलना करने से न सिर्फ हम अपना नुकसान कर बैठते हैं बल्कि मन में दूसरों के प्रति जलन, ईष्या के साथ नकारात्मक विचार भी घर करने लगते हैं।
तुलना करना एक सौभाविक प्रक्रिया है जो ज्यादातर लोगों में होती है लेकिन इस आदत को बदला जा सकता है। यदि हम खुद पर भरोसा करें और अपनी गलतियों से सीख लें तो इस परेशानी से हमेशा के लिए छुटकारा मिल सकता है।
ऐसे पाएं इस आदत से छुटकारा
स्वयं से करें तुलना
साइकलॉजी टुडे के अनुसार व्यक्ति यदि स्वयं से तुलना करना सीख जाए तो वह दूसरों से तुलना करने से स्वयं को बचा पाएगा। स्वयं से तुलना करने पर अपनी कमियां और खामियां सुधारने का समय मिलेगा। इससे आप नई चुनौतियों का मुकाबला डटकर कर पाएंगे।
सोशल मीडिया से लें ब्रेक
कई बार हम सोशल मीडिया पर दोस्तों को हंसते, मुस्कुराते या तरक्की करते हुए देखते हैं तब हम उनसे अपने को कंपेयर करने लगते हैं। आपको यह समझना चाहिए कि सोशल मीडिया एक प्लेटफॉम है यहां ज्यादातर लोग केवल दिखावे के लिए अपने पोस्ट शेयर करते हैं। हो सकता है कि उनकी सच्चाई कुछ और हो। तुलना करने की अपनी आदत से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है कि आप कुछ दिन सोशल मीडिया से ब्रेक ले लें।
खुद को करें मोटिवेट
दूसरों से तुलना करने के चक्कर में हम गलती से ही सही लेकिन खुद का नुकसान कर बैठते हैं। तुलना करने में इतना खो जाते हैं कि धीरे-धीरे नेगेटिव बन जाते हैं। इसलिए अगर आप दूसरे से तुलना करना ही चाहते हैं तो उनकी अच्छी आदतों से सीखें। स्वयं को ऐसा बनने के लिए मोटिवेट करें। स्वयं को मोटिवेट करेंगे तो तुलना करने की आदत को जल्द ही अलविदा कर पाएंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

किस्मत से जुड़ा होता है गुलाब का फूल, वास्तु के ये उपाय बनाएंगे आपको धनवान

कोलकाता : हमारे जीवन में जिस तरह पेड़-पौधों का महत्व है, उसी तरह फूलों का भी विशेष महत्व होता है। घर को महकाने से लेकर आगे पढ़ें »

100 दिवसीय रोजगार योजना : केंद्रीय मंत्री से मिलेंगे सुकांत व शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 100 दिवसीय रोजगार योजना के बकाया रुपये जल्द मिटाने का आश्वासन देने के लिए गत बुधवार को राज्य के पंचायत मंत्री प्रदीप आगे पढ़ें »

ऊपर