बनते-बनते बिगड़ जाते हैं काम, तो रविवार को कर लें ये उपाय

कोलकाता : अगर आपका काम बनते-बनते बिगड़ जाता है तो इसके ल‍िए परेशान होने की बात नहीं है। या फिर काम बनते ही नहीं हैं तो समझ लें क‍ि आपका सूर्य कमजोर है। अगर कोई भी इन समस्‍याओं से जूझ रहा हो तो उसे अपने सूर्य ग्रह को मजबूत करने की जरूरत है। लेक‍िन इसके ल‍िए रव‍िवार को कुछ खास उपाय करने की जरूरत है। आइए जानते हैं…
यह उपाय भी है बड़े काम का
यूं तो सूर्यदेव को प्रसन्‍न करने के ल‍िए द‍िन व‍िशेष की जरूरत नहीं होती। लेक‍िन रव‍िवार क्‍योंक‍ि सूर्यदेव का द‍िन होता है तो इस द‍िन उनकी पूजा करने के तमाम फायदे हैं। इसलिए प्रत्‍येक रव‍िवार को तांबे के लोटे में चावल, लाल मिर्च के कुछ दाने और लाल रंग के फूल अगर न म‍िले तो रोली डाल लें। इसके बाद इस जल से सूर्यदेव को अर्घ्य दें।
इन मंत्रों से करें सूर्यदेव की उपासना
रव‍िवार के द‍िन सूर्य पुराण का पाठ करें। साथ ही ‘ऊं सूर्याय नम:,’ ‘ऊं ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः,’ ‘ऊं घृणि: सूर्यादित्योम’ और ‘ऊं ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:’ मंत्रों से सूर्य देवता की उपासना कर सकते हैं। लेक‍िन ध्‍यान रखें क‍ि सूर्य देव की आराधना प्रात:कालीन बेला में की जाती है। इसलिए जब भी सूर्य पुराण पढ़ना हो या मंत्र जप करना हो तो सुबह के समय ही करें।
सूर्यदेव को प्रसन्‍न करने के ये उपाय हैं काम के
अगर आप अपना सूर्य मजबूत करना चाहते हैं तो रव‍िवार के द‍िन यथाशक्ति तांबे के बर्तन, लाल कपड़े, गेंहू, गुड़ और लाल चंदन का दान करना चाहिए। साथ ही इसका भी ख्‍याल रखें क‍ि कभी भी ब‍िना स्‍नान क‍िये हुए सूर्यदेव को जल अर्पित न करें।
रव‍िवार को इस बात का रखें व‍िशेष ध्‍यान
सूर्य कमजोर हो तो कभी भी रव‍िवार के द‍िन तेल, नमक नहीं खाना चाहिए। क्‍योंक‍ि नमक खाने से सूर्यदेव नाराज हो जाते हैं। साथ ही भोजन भी एक समय करना चाहिए। लोहे और लकड़ी के साथ जुड़ा व्‍यापार नहीं करना चाहिए। क‍िसी की न‍िंदा करने से भी बचना चाहिए। इसके अलावा झूठ भी नहीं बोलना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज से हाे सकती है भारी बारिश, फिर कोलकाता में जलजमाव का खतरा

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : एक आपदा मिटते ना मिटते अब फिर बंगोपसागर में चक्रवात गहरा रहा है। इसके असर से आज यानी मंगलवार और कल यानी आगे पढ़ें »

ऊपर