सोते हुए भी चरम सुख पा सकती हैं महिलाएं, अपने शरीर से जुड़ी ऐसी…

कोलकाताः महिलाओं और पुरुषों के शरीर संरचना में कुछ बुनियादी फर्क होते हैं। कुदरत ने मर्दों की तुलना में महिलाओं को बहुत सारी खूबियां दी हैं। महिलाओं के बारे में आसानी से कुछ भी जानना बहुत मुश्किल होता है। किसी ने सच कहा है महिलाएं किसी रहस्‍य से कम न‍हीं होती हैं। शायद इसलिए ऐसा कहा जाता है कि महिलाओं को समझने के लिए बहुत ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत पड़ती है। आपको बता दें कि महिलाओं के शरीर से जुड़ी ऐसी कई बाते होती हैं जिनके बारे में वो खुद नहीं जानती हैं। क्या आप जानते हैं कि कोई महिला अपने जीवनकाल में लगभग 17000 टैम्पोन का इस्तेमाल करती है। चलिए जानते हैं उनके शरीर से जुड़ी कुछ ऐसी ही रोचक बातें।

  • महिलाओं का दिल पुरुषों की तुलना में छोटा होता है और तेजी से धड़कता है। पुरुषों के दिल की धड़कन औसतन 70 प्रति मिनट है जबकि महिलाओं का दिल एक मिनट में 78 बार धड़कता है।
  • अपने जीवनकाल में औसतन हर महिला लगभग 17.2 साल डाइटिंग पर खर्च करती है। इस तरह उसके शरीर का वजन 9 बार कम होता है।
  • पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा आंख झपकाती हैं। एक मिनट में पुरुषों की आंख 11 बार जबकि महिलाओं की आंख 19 बार झपकती हैं।
  • किसी महिला के बटक्स 25 फीसदी उस समय बढ़े हुए नजर आते हैं जब वो हाई हील्स पहनती है।
  • कोई महिला अपने जीवनकाल में लगभग 17000 टैम्पोन का इस्तेमाल करती है।
  • दस में से चार महिलाएं सेक्स से ज्यादा शॉपिंग पर जाना पसंद करती हैं।
  • महिलाओं का लेफ्ट ब्रेस्ट राइट ब्रेस्ट की तुलना में बड़ा होता है ऐसा इसलिए है क्योंकि लेफ्ट ब्रेस्ट दिल के करीब होता है जहां धमनियों और नसों की संख्या ज्यादा होती है।
  • वैज्ञानिकों के अनुसार, कोई महिला सोते हुए भी ऑर्गेज्म का एहसास कर सकती है जबकि पुरुषों को इसके लिए फिजिकल एविडेंस की जरूरत होती है।
  • एक अध्ययन के अनुसार, महिलाओं की स्किन पुरुषों की तुलना में दस गुना सेंसटिव होती है और उनकी बॉडी भी ज्यादा फ्लेक्सिबल होती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान 30 फीसदी महिलाओं का ऐसी चीजें खाने का मन करता है जिन्हें इस दौरान बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए।
  • महिलाएं एक साल में औसतन 34 से 64 बार रोती हैं जबकि पुरुष सिर्फ 6 से 17 बार रोते हैं।
  • महिलाओं के शरीर में नर्व पेन रिसेप्टर्स ज्यादा हैं इसलिए उन्हें सिर्फ बड़े दर्द का ही एहसास होता है। पुरुषों की तुलना में उन्हें कम दर्द होता है अन्यथा, कोई भी महिला लेबर पेन नहीं झेल पाती।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नवरात्रि में करें ये अचूक टोटके, मां दुर्गा की कृपा से घर में आएगी सुख-समृद्धि

कोलकाता : शक्ति पूजा और उपासना का पावन पर्व शारदीय नवरात्रि शुरू हो चुका है। नवरात्रि के ये पावन 9 दिन बहुत ही शुभ माने आगे पढ़ें »

दो सालों बाद सजी ढाक की धुन, पंडालों में पहुंचे ढाकी

सन्मार्ग संवाददाता काेलकाता : ढाकी की धुन और धुनुची नृत्य से पूजा का उत्साह चरम पर होता है। देखा जाये तो दुर्गापू​जा में बिना ढाक के आगे पढ़ें »

ऊपर