इस महिला ने चीनी छोड़ते ही घटाया 11 Kg वजन, ये रहा पूरा डाइट प्लान

कोलकाताः खराब जीवनशैली और बेकार के खानपान की वजह से आज लाखों लोगों का वजन बढ़ता जा रहा है। ऐसा ही कुछ हो गया था पुणे में रहने वाली शिक्षिका विनम्रता भाटिया के साथ। इनके बढ़ते वजन ने इन्हें शर्मिंदगी तो दी ही, साथ ही इनका आत्मविश्वास को भी पूरी तरह तोड़ कर रख दिया। लेकिन कहते हैं न कि जिस दिन आप किसी समस्या को खत्म करने का निर्णय ले लेते हैं तो उस दिन वह समस्या उल्टे पांव लौटना शुरू कर देती है।
ऐसा ही कुछ हुआ 42 वर्षीय विनम्रता के जीवन में। अपनी डाइट से चीनी को बाहर कर उन्होंने अच्छे खानपान और एक्सरसाइज को चुना। जिसके बाद महज 3 माह में 11 किलो वजन कम कर दिखाया। आइए जानते हैं कैसे विनम्रता ने किया यह कारनामा।

नाम: विनम्रता भाटिया
पेशा: स्कूल शिक्षक
आयु: 42
लंबाई: 5 फीट 3 इंच
अधिकतम वजन : 68 किलो
वजन कम: 11 किलो
वजन कम करने में समय: 3 महीने

ऐसे मिला वेकअप कॉल

जब कोई व्यक्ति यह मान लेता है कि बस अब बहुत हुआ, असली बदलाव उसी दिन से शुरू हो जाता है। इसी स्थिति में थी विनम्रता , जब उनके कपड़े टाइट होने लगे थे। वह कहती हैं कि उस दिन उन्हें एहसास हुआ कि उनका लाइफ स्टाइल कितना ज्यादा खराब है। वह बताती हैं कि बढ़ते वजन के कारण वह वेस्टर्न ड्रेस पहन नहीं पा रही थीं और इसी चीज ने उनके आत्मविश्वास को भी चोट पहुँचाई थी। इसके बाद विनम्रता ने वजन कम करने की ओर कदम बढ़ा दिया।
ऐसा था डाइट प्लान
विनम्रता ने अपनी डाइट से सबसे पहले चीनी को निकालकर फेंक दिया। यानी उन्होंने चीनी को पूरी तरह त्याग दिया। इसके अलावा अपनी डाइट भी उन्होंने साझा की, जो हम आपको बता रहे हैं।
नाश्ता – वह सुबह उठते ही एक गिलास नींबू पानी से दिन की शुरुआत करती हैं। वह बताती हैं कि हर दिन के नाश्ता एक सा न करके थोड़ा अलग रखती हैं। वह ओट्स, मूसली, फल ,स्मूदी, चिया बीज या अखरोट का सेवन करती हैं। इसके अलावा वह कहती हैं कि स्मूदी के जरिए वह अन्य स्नैक्स खाने से बची रहती हैं।
लंच – वह इस समय घर की बनी सब्जी और अलग-अलग अनाज की रोटी का सेवन करती हैं, जैसे मक्का, बाजरा, ज्वार आदि। इसके अलावा वह ब्राउन राइस, सलाद और दही का सेवन भी करती है।
डिनर – दाल, या सब्जियों से बने सूप, या फिर अंडे के साथ सलाद।
प्री-वर्कआउट – भीगे हुए बादाम
पोस्ट वर्कआउट – ग्रीन टी के साथ मूंगफली
चीट डे मील – विनम्रता बताती हैं कि जब उन्होंने वजन कम करने का फैसला किया तो तब से उन्हें डाइट के साथ चीट करने का मन ही नहीं हुआ। ना ही उन्हे जंक फूड की क्रेविंग होती है।
लो कैलोरी फूड – वेज सूप और स्नैक्स में मूंगफली।​
वर्कआउट
विनम्रता कहती हैं कि वह हर रोज 5000 से लेकर 10000 हजार कदम जरूर चलती हैं। वह कहती हैं कि, ‘मैं यह सुनिश्चित करती हूं किसी भी हाल में 5 हजार से 10 हजार कदम जरूर चलूं।’ इसके अलावा वह घर के काम खुद करती हैं और एक्टिव रहना पसंद करती हैं। साथ ही वीकेंड्स पर वह ट्रेक पर जाना पसंद करती हैं।​
फिटनेस सीक्रेट
विनम्रता बताती हैं कि उनका वजन कम करने का सबसे बड़ा राज चीनी यानी शक्कर है। उन्होंने चीनी का सेवन पूरी तरह छोड़ दिया जिससे वजन कम करना आसान हो गया। इसके अलावा वह कहती हैं कि चीनी छोड़ने के बाद उन्होंने अपनी स्किन में भी एक अलग बदलाव महसूस किया है। वह मानती हैं कि चीनी की लत हमारे लिए सबसे बुरी है और एक बार जब आप इसे छोड़ते हैं तो फिर आप इसके सेवन के लिए उत्सुक नहीं होंगे।​
चीनी छोड़ने का परिणाम
विनम्रता अधिक मात्रा में स्नैक्स खाना पसंद करती थीं, जिसकी वजह से ही उनका वजन इतना अधिक बढ़ गया था। लेकिन अब ऐसा नहीं है। वह स्नैक्स का सेवन करना बंद कर चुकी हैं, बल्कि वह अक्सर अपने आप को जांचती भी रहती हैं कि कहीं उनकी स्नैक्स की क्रेविंग तो नहीं बढ़ गई।
विनम्रता बताती हैं कि वह मीठा खाना बेहद पसंद करती थीं, और चीनी से दूर हो गई थीं, जो शुरुआत में उनके लिए समस्या बन गया था। लेकिन बाद में उन्होंने अपनी क्रेविंग को कम कर लिया और चीनी को पूरी तरह त्याग दिया।​
प्रेरणा का श्रोत
विनम्रता बताती हैं कि जब उन्होंने शुरुआती वजन कम करना शुरू किया तो वह उससे बेहद फ्रेश और एक्टिव रहने लगीं। इसी परिणाम ने उन्हें प्रेरित किया। वह कहती हैं कि वह निरंतर अपने लक्ष्य पर काम करती रहती हैं और अपने परिणामों से बेहद खुश हैं।वह अपना फोकस बनाए रखने के लिए बस अपने नियमित दिनचर्या का ध्यान रखती हैं। वह कहती हैं कि जबसे उन्होंने इस स्वस्थ जीवनशैली को चुना है तब से फोकस्ड रहने के लिए उन्हें कुछ करने की आवश्यकता नहीं पड़ी। वह केवल अपनी दिनचर्या पर बनी रहती हैं।​कहानी से सीखविनम्रता की जिंदगी से सीख मिलती है कि वजन कम करना कोई अस्थायी कार्य नहीं हैं, बल्कि यह तो एक प्रोसेस है। जिसमें आपको जिंदगी भर फिट रहने के लिए जीवनशैली में बदलाव करना होता है। इसके लिए मजबूत इच्छा शक्ति की आवश्यकता होती है।इसके अलावा अगर आपको अपनी जीवनशैली में बदलाव लाना है तो अपनी स्नैक्स को हेल्दी बना लें। यानी अपने रसोई और फ्रिज में ऐसी खाद्य सामग्री रखें जो आपको स्वस्थ रहने में मदद करें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोलकाता को ‘सिटी ऑफ फ्यूचर’ बनायेगी भाजपा : मोदी

दीदी ओ दीदी अब की बार नहीं कहा, केवल की विकास की बात कोलकाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में अपनी पहली वर्चुअली चुनावी सभा आगे पढ़ें »

मेरी लड़ाई किसी से नहीं, काम मेरी पहचान – फिरहाद हकीम

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पोर्ट विधानसभा चुनाव में मैं किसी को अपना प्रतिद्वंदी नहीं मानता हूँ। मेरी लड़ाई किसी से नहीं बल्कि मेरी खुद से है। आगे पढ़ें »

ऊपर