क्यों अरेंज मैरिज से ज्यादा टूटती हैं लव मैरिज, जानें वजह

कोलकाता : इस बात में कोई दोराय नहीं कि विवाह हमारे समाज का एक अभिन्न हिस्सा है, जो न केवल लोगों को एक साथ लाता है बल्कि धार्मिक रूप से दो परिवारों को एक बंधन में भी बांधता है। यही एक वजह भी है कि सदियों से शादी जैसे पवित्र रिश्ते की सभी रस्मों और परंपराओं का पालन किया जा रहा है। अधिकतर युवा जहां अपने मां-बाप की पसंद से ही अपना जीवनसाथी चुनना पसंद करते हैं, तो कुछ अपने मन मुताबिक अपने पार्टनर का चयन करते हैं। हां, वो बात अलग है कि भारत में अभी भी परिवारों ने अरेंज मैरिज की अवधारणा को ही अपनाया हुआ है, जिसके पीछे की सबसे बड़ी वजह क्योंकि लव मैरिज अरेंज मैरिज के मुकाबले कहीं ज्यादा आसानी से टूट जाती हैं।
धार्मिक विवाद-सांस्कृतिक मतभेद, परिवारों की असहमति और अन्य महत्वपूर्ण मामलों के कारणों भारत में बहुत कम लोग प्रेम विवाह करने का विकल्प चुनते हैं। एक स्टडी भी कहती है कि लोग भले ही शुरू में अपने प्रियजन से शादी करना चाहते हों, लेकिन पारिवारिक दवाब की वजह से वह प्रेम विवाह करने का दमखम उठा नहीं पाते। यही एक वजह भी है कि परिवार के विरुद्ध जाकर जो लोग शादी कर भी लेते हैं, उनके बीच विवाह के बाद दूसरी तरह के मसले जन्म लेने लगते हैं, जिसकी वजह से भी उनका रिश्ता कमजोर पड़ने लगता है।
परिवार की असहमति
हमारे समाज में भी अभी भी लव मैरिज नाॅर्मल नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि अपने पसंद के साथी के साथ शादी करने पर उसे परिवार की एक्सेप्टेंस नहीं मिलती। एक साथ एक छत के नीचे रहने के बाद भी लोग एक-दूसरे को नहीं अपनाते हैं। यही एक वजह भी है कि इस रिश्ते में बड़ों के प्यार का अभाव हमेशा ही बना रहता है, जिसकी वजह से भी शादी को निभाना मुश्किल हो जाता है।
जिम्मेदारियों की वजह से समय की कमी
इस बात से इनकार नहीं किया सकता कि शादी से पहले तक कपल एक-दूसरे को काफी समय देते हैं। वह न केवल जिंदगी के हर पहलू पर चर्चा करते हैं बल्कि दोनों की जिंदगी से जुड़ा हर दिन-हर डे उंगलियों की टिप पर रटा रहता है। हालांकि, शादी के बाद चीजें एकदम से बदल जाती हैं।
ऐसा इसलिए क्योंकि लव मैरिज में कपल्स पहले ही एक-दूसरे को अच्छे से जान लेते हैं, जिसकी वजह से शादी के बाद उनकी लाइफ में जरा भी नयापन नहीं रहा जाता है। उन्हें न केवल एक-दूसरे की अच्छाई बुराई सब पता होती है बल्कि छोटी-छोटी बातों पर भी वह लड़ना शुरू कर देते हैं।
सम्मान की कमी
बात चाहे अरेंज मैरिज की हो या फिर लव मैरिज की, जिन रिश्तों में सम्मान की कमी होती है, उनका ज्यादा दिन चल पाना मुश्किल हो जाता है। हालांकि, लव मैरिजेस की दिक्कत यह है कि इसमें कपल एक दूसरे से बेहद फ्रैंक होते हैं। वह न केवल एक-दूसरे को निक नेम्स से बुलाते हैं बल्कि कभी-कभार एक-दूसरे की भावनाओं की भी कद्र नहीं करते हैं।
ऐसा इसलिए क्योंकि इस शादी में म्यूचुअल रिस्पेक्ट को लोग अपने ईगो पर ले लेते हैं। अगर आपके पति ने आपको आप कहकर संबोधित नहीं किया, तो आप भी उन्हें उनके नाम से ही बुलाएंगी।
जल्दबाजी में शादी करना
लव मैरिज टूटने का मुख्य कारण यह भी है कि लोग अपने पार्टनर को जाने बिना ही उससे शादी करने जैसा फैसला कर लेते हैं। दरअसल, इस तरह की शादी में हमेशा ही परिवार की अपीयरेंस का आभाव बना रहता है, जिसकी वजह से सामने वाले की सभी स्थितियों को जाने बिना ही हम शादी कर लेते हैं। यही एक वजह भी है कि विवाह के बाद में जब जिंदगी असलियत से सामना होता है, तो यह रिश्ता गले की फांस लगने लगता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

IPL फाइनल : अहमदाबाद में बारिश रुकी

अहमदाबाद : इंडियन प्रीमियर लीग-2023 का फाइनल मुकाबला आज डिफेंडिंग गुजरात टाइटंस (GT) और चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में आगे पढ़ें »

Menstrual Hygiene Day : असम में पीरियड्स से जुड़ा निभाया जाता है यह अनोखा रिवाज, जानें …

कोलकाता : यह कहना गलत नहीं होगा कि 21वीं सदी में जीने के बाद भी आज हम पीरियड्स को टैबू की तरह देखते हैं। ज्यादातर आगे पढ़ें »

ऊपर