राखी बांधते समय तीन गांठ लगाना क्यों है जरूरी? इन देवताओं से जुड़ा है संबंध

कोलकाता : भाई बहन के रिश्ते को सेलिब्रेट करने के लिए हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं और उनकी लंबी उम्र की कामना करती है। वहीं, भाई बहन की रक्षा करने का वचन देता है। कहने को तो यह भाई-बहन का त्योहार है, लेकिन इसको मनाते समय भी कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है। आइए जानते हैं, क्या हैं वह अहम बातें।
बांधें तीन गांठ
रक्षाबंधन के दिन जब बहनें अपने भाईयों की कलाई पर राखी बांधती हैं तो उस समय गांठ बांधते समय इन बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। क्या आपने राखी बांधते समय यह सोचा है कि कलाई पर कितनी गांध बांधनी चाहिए। कुछ को तो इस बारे में पता होगा, कुछ को नहीं। राखी बांधते समय कलाई पर राखी की तीन गांठें बांधनी चाहिए।
भगवानों से है संबंध
राखी बांधते समय कलाई पर गांठ बांधते का धार्मिक महत्व है। कलाई पर बांधीं जाने वाली तीन गांठों का संबंध भगवानों से होता है। यानी कि ब्रह्मा, विष्णु और महेश। हर गांठ इन भगवानों के नाम पर समर्पित होती है। वहीं, तीन गांठों को शुभ भी माना जाता है।
भाई-बहनों के लिए भी है खास
ऐसा माना जाता है कि कलाई पर बांधे जाने वाली गांठों का संबंध भाई और बहस से भी है। राखी की पहली गांठ भाई की लंबी आयु के लिए, दूसरी गांठ बहन की लंबी आयु के लिए, तीसरी गांठ भाई बहन के रिश्ते में मिठास लाने और सुरक्षित रखने के लिए बांधी जाती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

इस उम्र के बाद बच्चे को जरूर सिखाएं ये 5 काम करना, कई मुश्किलें होंगी आसान

कोलकाता : बच्चों की खास देखभाल और बेहतर परवरिश के लिए पैरेंट्स हर मुमकिन कोशिश करते हैं। बावजूद इसके कुछ बच्चे आलसी नेचर के होते आगे पढ़ें »

ऊपर