क्यों झड़ते हैं सर्दियों में बाल, जानें कारण और उपचार

 

अधिकतर ये देखा गया है कि सर्दियों में लोगों के बाल ज्यादा झड़ते है। सर्दियों के मौसम में न सिर्फ त्वचा बल्कि बाल भी रूखे और बेजान नजर आते है, ऐसे में बालों को जरूरत होती है अच्छी देखभाल की ताकि वे पर्याप्त पोषण पा सके और मजबूत बन सकें। आइए जानते हैं बाल झड़ने के कारण और कारगर उपाय –
कारण-पोषण की कमी बालों के झड़ने की एक प्रमुख वजह है लेकिन इसके अलावा भी कुछ कारण हैं जो बालों के झड़ने के लिए जिम्मेदार होते हैं जैसे-
– तनाव
– एनीमिया
– बालों के साथ एक्सपेरिमेंट
– विटामिन बी की कमी
– प्रोटीन की कमी
– हाइपो थॉयरॉडिज्म
– डैंड्रफ
– बोरिंग के पानी से बाल धोना
– अनुवांशिक
– बालों की जड़ों में इंफेक्शन
उपचार
बालों को झड़ने से बचाने के लिए उसके कारण को पहचानना और सही उपचार अपनाना बेहद जरूरी है जो बालों को झड़ने से रोकने नारियल – बालों को पोषण देने के लिए नारियल हर रूप में बेहद उपयोगी है। नारियल तेल को हल्का गर्म कर बालों की जड़ों में मसाज करने से जड़ों को पोषण मिलता है और बाल मजबूत होते हैं। इसे कम से कम 1 घंटा बालों में लगाए रखें। इसके अलावा नारियल का दूध बालों में लगाकर मसाज करने के 1 घंटे बाद बाल धोने से भी लाभ होता है।
गुड़हल – गुड़हल के लाल फूल बालों के लिए वरदान से कम नहीं है। गुड़हल के फूल को पीसकर नारियल तेल के साथ बालों में लगाएं और आधे से 1 घंटे तक बालों में रखें। इसके बाद बालों को धो लें। यह प्रयोग बालों को डैंड्रफ से बचाने के साथ ही मजबूत और चमकदार बनाता है।
अंडा – अंडा प्रोटीन से भरपूर होता है, साथ ही इसमें जिंक, मिनरल और सल्फर भी होता है। ये सभी पोषक तत्व मिलकर बालों को मजबूती प्रदान करते हैं और बालों का झड़ना रोकते हैं। अंडे के सफेद भाग को जैतून के तेल के साथ अच्छी तरह मिक्स करके बालों में मसाज करें। आधे घंटे के बाद बाल धो लें।
प्याज – प्याज का रस लगाने से न केवल बालों का झड़ना कम होता है, बल्कि बालों का फिर से उगना और लंबाई से बढ़ना भी शुरू हो जाता है। सप्ताह में दो बार प्याज के रस का बालों में लगाकर आधे घंटे बाद शैंपू कर लीजिए। यह बेहद कारगर उपाय है।
लहसुन – सल्फर की अधिकता के कारण लहसुन भी बालों के लिए बेहद फायदेमंद है। इसे नारियल तेल में पकाकर या फिर इसके जूस को नारियल तेल में मिलाकर लगाने से काफी फायदा होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल के आरोपों को चुनाव आयोग ने बताया निराधार

कहा - सभी चुनाव अधिकारी तत्परता व कर्मठता से कर रहे काम हमें अपने चुनाव अधिकारियों पर पूरा भरोसा सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली/कोलकाताः मुख्य निर्वाचन आयोग ने तृणमूल आगे पढ़ें »

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ऊपर