फूड लेबल्स पर क्या खोजना चाहिए- कार्बोहाइड्रेट या वसा ?

डायबिटीज से ग्रस्त अधिकांश लोग आहार सूची के न्यूट्रीशन फैक्ट्स पैनल पर कार्बोहाइड्रेट और वसा दोनों को खोजते होंगे। कार्बोहाइड्रेट वह तत्व है जो सबसे ज्यादा आपके रक्तशर्करा को बढ़ा देता है इसलिए यह आपके लिए महत्वपूर्ण है। वसा में प्रति ग्राम सबसे ज्यादा कैलोरी होती है, इसलिए यह आपके वजन को प्रभावित करता है। यह भी ध्यान रखिये कि डायबिटीज से दिल संबंधी बीमारी होने का खतरा ज्यादा बना रहता है। ​कम वसा वाला आहार लेने से आपको वजन नियंत्रण करने तथा दिल संबंधी बीमारी का जोखिम भी कम करने में मदद मिलेगी। जितना कार्बोहाइड्रेट आप लेते हैं वह आपके ब्लड ग्लूकोज को प्रभावित करता है। न्यूट्रीशन फैक्ट्स में सूचीबद्ध कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बीन्स, सब्जियों, पास्ता, अनाज और शक्कर (मिलाई हुई या दूध और फलों में पायी जाने वाली प्राकृतिक शक्कर) की हो सकती है। आप कार्बोहाइड्रेट की जितनी कुल मात्रा खाते या पीते हैं, वह ज्यादा महत्वपूर्ण है न कि यह जानना कि वह आता कहां से है। फूड लेबल आपको ठीक ठीक बता देगा कि एक बार परोसे गये भोजन में कितने ग्राम कार्बोहाइड्रेट और वसा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता का मास्टर स्ट्रोक है नंदीग्राम आंदोलन, शुभेन्दु के तेवर भी गरम

महज एक गांव नहीं, बंगाल की सत्ता में परिवर्तन का प्रतीक है नंदीग्राम दादा और दीदी की लड़ाई में किसके हाथ लगेगा विजय रथ, तय करेगी आगे पढ़ें »

सर्दियों में नाखूनों के आसपास की निकलती है खाल ? राहत देंगे ये घरेलू उपाय

कोलकाता : सर्दियों के मौसम में अक्सर कई लोग नाखूनों के आस-पास की खाल निकलने की शिकायत करते हैं। इसकी वजह से न सिर्फ व्यक्ति आगे पढ़ें »

ऊपर