सर्दी से बचने के लिए सॉक्स पहन कर सोते हैं तो संभल जाइए, जानिए साइड…

कोलकाताः सर्द मौसम में हम सर्दी से बचने के लिए जितने भी कपड़े पहनते हैं, उतने ही कम लगते हैं। सर्दी में सबसे ज्यादा ठंड पैरों पर और कानों पर लगती है। सर्दी में अक्सर पैर ठंडे रहते हैं और हम बिस्तर में जाते ही पहले पैरों को गर्म करते हैं। ठंडे पैर सर्दी में सेहत को बेहद प्रभावित करते हैं। सर्दी से ब्लड वैसल्स सिकुड़ने लगती हैं जिसकी वजह से रक्त का संचार धीमा पड़ने लगता है। नेशनल स्लीप फाउंडेशन के अनुसार, बिस्तर पर जाने से पहले पैरों को गर्म करने से ब्रेन को सोने का स्पष्ट संकेत मिलता है कि यह सोने का समय है। रात को सोने से पहले पैरों का गर्म होना बेहद जरूरी हैं, लेकिन कुछ लोग पैरों को गर्म रखने के लिए रात को मौजे पहनकर ही सो जाते हैं जो सेहत पर साइड इफेक्ट डालते हैं। मोजे पहनकर सोने से आप कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं।

आइए जानते हैं कि किसी भी मौसम में मोजे पहनकर सोन से स्वास्थ्य पर क्या दुष्प्रभाव पड़ते हैं?

ब्लड सर्कुलेशन में रुकावट करती है सॉक्स:

सॉक्स पहनकर सोने से आपका ब्लड सर्कुलेशन धीरे हो जाता है, खासकर टाइट सॉक्स पहनने से तेज गति से बल्ड सर्कुलेशन प्रभावित होता है। टाइट सॉक्स शरीर में रक्त प्रवाह में रुकावट उत्पन्न करती हैं। इसलिए सोते वक्त भूलकर भी सॉक्स ना पहनें।

बॉडी का तापमान बढ़ सकता है:

सोते समय सॉक्स पहनने से आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है। तापमान बढ़ने से पैरों में ज्यादा पसीना आना शुरु हो जाता है, जिससे फंगल इंफेक्शन होने का डर बन जाता है। अगर आप सॉक्स पहनना चाहते हैं तो कॉटन सॉक्स ही पहने।

दिल को पहुंचा सकती हैं नुकसान:

रात में सोते समय टाइट सॉक्स पहनने से पैरों की नसों पर दबाव पड़ता है। हार्ट जब ब्लड पंप करता है तो उसे ज्यादा जोर लगाने की जरूरत पड़ती है। जिससे हार्ट पर बुरा प्रभाव पड़ता है। ऐसे में आपको रात में सोते वक्त सॉक्स पहनकर नहीं सोना चाहिए।

हो सकती है हाइजीन संबंधी परेशानी:

सर्दी के मौसम में संक्रमण का कारण बन सकती हैं सॉक्स। सर्दियों के मौसम में लोग दिनभर सॉक्स पहनकर इधर-उधर घूमते हैं, जिससे धूल और मिट्टी सॉक्स पर चिपक जाती है। गंदी सॉक्स संक्रमण का खतरा बढ़ा सकती हैं। ऐसे में इन सॉक्स को पहन कर सोने से संक्रमण का खतरा अधिक रहता है।

इस तरह पहने सोते समय सॉक्स:

अगर आप रात को सॉक्स पहनना ही चाहते हैं तो ध्यान रखें कि आपकी सॉक्स लूज और एकदम साफ हो। टाइट सॉक्स ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित करती है। आप ध्यान रखें कि सॉक्स सर्दी में भी कॉटन के कपड़े की ही पहनें। भूलकर भी सोतो समय नाइलॉन या किसी अन्य मोटे कपड़े से बने सॉक्स को नहीं पहनें, जिसमें से हवा पास ना हो रही हो।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

जुड़वा बच्‍चे पैदा करने के लिए इन तरीकों से बढ़ाएं अपनी फर्टिलिटी

बच्‍चे का आना, खुशियों को दस्‍तक देता है और जब जुड़वा बच्‍चे पैदा हों, खुशियां भी दोगुनी हो जाती हैं। अगर आप भी अपने लिए आगे पढ़ें »

ईशांत के 100वें टेस्ट मैच में राष्ट्रपति और गृहमंत्री ने सम्मानित किया

अहमदाबाद : भारत के अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृहमंत्री अमित शाह ने यहां बुधवार को उनके 100वें टेस्ट की आगे पढ़ें »

ऊपर