भूखा रहकर नहीं, दिन में 5 बार खाकर इस लड़के ने घटाया 80 किलो वजन

कोलकाताः आपने अक्सर ऐसा सुना होगा कि आप जैसे भी हो, खुद को पसंद करो। लेकिन क्या यह सच में सही है? अगर आपको बहुत गुस्सा आता हो, या आप ओवर इटिंग करते हों, एक्सरसाइज के लिए समय नहीं निकालते हों, पर आप बहाना दें कि आप जैसे हैं वैसे अच्छे हैं। ये बात जैसे ही किसी की जुबान पर आती है तो सच मानिए खुद को बेहतर बनाने की सोच ही दब जाती है। जबकि आपको अपनी क्वॉलिटी और कमियों के बारे में पता होना चाहिए और उन्हें दूर करने के लिए मेहनत करनी चाहिए।
ऐसा ही कुछ किया एक कॉलेज जाने वाले छात्र अमन खान ने। अमन केवल 20 साल के हैं और उनका वजन 162 किलो तक पहुंच गया था। जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा है। इस वजन की वजह से ना केवल उन्हें स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं होने लगी थीं, ही पढ़ा है। इस वजन की वजह से ना केवल उन्हें उन्हे स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं होने लगी थीं, थी। बल्कि वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सफर करते समय खासी दिक्कतों का सामना कर रहे थे। इसके अलावा बहुत से लोग मोटापे को लेकर उनका मजाक उड़ाते रहते थे। इसलिए उन्होंने फैसला किया कि वह अपनी इस समस्या का अंत करेंगे। इसके बाद उन्होंने एक पर्सनल ट्रेनर के साथ मिलकर मेहनत की और महज 2 साल के भीतर ही 80 किलो वजन कम कर लिया। आइए जानते हैं कि कैसे हुआ यह करिशमा।

नाम – अमन खान
काम काज – छात्र
उम्र – 20 साल
लंबाई – 6 फुट 2 इंच
शहर – लखनऊ
अधिकतम वजन – 162 किलोग्राम
कम किया गया वजन – 80 किलो
वजन कम करने में समय – 104 सप्ताह
लोगों के तानों ने किया मजबूर

हमारे समाज में अक्सर इंसान की कमियों या उसकी शारीरिक बनावट को लेकर मजाक बनाया जाता है। एक तरफ जहां व्यक्ति मोटा होने लगता है तो उसके लिए जिंदगी और भी मुश्किल हो जाती है। मोटापा ना केवल स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या साथ लाता है, बल्कि इसकी वजह से लोग बहुत सी बातें कहने लगते हैं। अमन को भी लोगों की इसी तरह के तानों का शिकार होना पड़ा। अमन बताते हैं कि उन्हें ज्यादा परेशान दोस्तों और रिश्तेदारों के तानों ने ही किया। अमन को उनकी बातें सुनकर ऐसा लगने लगा था कि वह किसी लायक ही नहीं हैं। लेकिन एक दिन उन्होंने इन्हीं नेगेटिव लोगों की बातें सुनकर वजन कम करने का फैसला किया। अमन बताते हैं कि उनके वजन कम करने का सबसे ज्यादा श्रेय उनके कोच ऐकांश तनेजा को जाता है। अमन बताते हैं कि अगर ऐकांश तनेजा उनकी जिंदगी में नहीं आते तो वह शारीरिक समस्याओं और डिप्रेशन से ही मर जाते।
अमन की डाइट

अमन बताते हैं कि उनके कोच द्वारा उनकी डाइट का बहुत ध्यान रखा गया था। उनकी डाइट हर तीन से चार दिन के अंदर बदल दी जाती थी। लेकिन अब वह अपने शरीर की जरूरत के मुताबिक खाने पीने की चीजें ले सकते हैं। जाहिर सी बात है कि अगर 80 किलो वजन कम किया है तो उसमें डाइट का रोल सबसे अहम रहा होगा।
आइए जानते हैं कि अमन ने किस तरह की डाइट फॉलो की।
नाश्ता – पोहा/फलों का बाउल/ सैंडविच या ब्रेड और आमलेट
लंच – सब्जी – रोटी/ दाल- चावल/ ओटमील ब्रैड जैम सैंडविच
डिनर – ग्रिल्ड पनीर रैप/ सैंडविच रोस्टेड चिकन
प्री वर्कआउट मील – दूध और कुछ ड्राई फ्रूट्स (एक्सरसाइज से एक घंटे पहले)
पोस्ट वर्कआउट मील- एक केला और एक स्कूप व्हे प्रोटीन।
चीट डे: अमन कहते हैं कि उनके लिए चीट डे जैसा कुछ है ही नहीं। बल्कि वह कुछ भी खाने के लिए पूरी तरह फ्री हैं। कुछ भी खाने से पहले वह अपने कोच को बता दिया करते थे, जिसके बाद उनके कोच उनकी डाइट में फेरबदल कर देते थे। अमन अपने कोच को लेकर काफी शुक्रगुजार हैं। अमन बताते हैं कि अगर वह किसी दिन डाइट की बताई गई मात्रा से ज्यादा खा लेते थे तो फिर उनके कोच अगले दिन, ज्यादा एक्सरसाइज करा देते थे।
लो कैलोरी डाइट:प्रोटीन आइसक्रीम, चिकन मलाई टिक्का, पनीर क्रीमी पर बिना क्रीम के। इसके अलावा भी वह बहुत सी लो कैलोरी डाइट में शामिल है, जिसकी वीडियो उनके कोच के यूट्यूब चैनल पर मौजूद हैं।​

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नदियों में शव बह रहे हैं और पीएम को सेंट्रल विस्टा के सिवाय कुछ नहीं दिखता – राहुल

नई दिल्ली : देश में कोरोना संक्रमण महामारी ने रौद्र रूप धारण किया हुआ है। वहीं कांग्रेस पार्टी लगातार केंद्र सरकार पर कोरोना संक्रमण को आगे पढ़ें »

इन 2 ब्लड ग्रुप वालों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक

नई दिल्ली : कोरोना वायरस की बेकाबू लहर से पूरे देश में दहशत का माहौल है। इस बीच काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंटस्ट्रियल रिसर्च ने आगे पढ़ें »

ऊपर